Election Talks

भाजपा के समर्थन में उतर सकते हैं राज ठाकरे, महाराष्ट्र में कोई बड़ा खेला होने वाला है !


Loksabha Election 2024: Maharashtra Politics Update:

किसी समय हिन्दू ह्रदय सम्राट बाल ठाकरे के उत्तराधिकारी के रूप में देखे जाने वाले राज ठाकरे ने उद्धव गुट को चिंता में डाल दिया है। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे के NDA गठबंधन के साथ जुड़ने की ख़बरें पक्की होती नज़र आ रही हैं। बता दें कि प्रखर मराठी वक्ता राज ठाकरे अपनी सीधी बोली और मराठी जनसामान्य के मुद्दों से जुड़े हुए नेता के रूप में पहचाने जाते हैं। 2 साल पहले बाल ठाकरे की शिव सेना के दो टुकड़े हुए थे, जिसमें एक गुट शिंदे गुट के रूप में जाना गया वहीं दूसरे को नाम मिला उद्धव गुट। 2006 में शिव सेना से त्यागपत्र देते हुए राज ठाकरे ने अपनी खुद का राजनीतिक दल महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की स्थापना की थी।

मंगलवार 19 मार्च को राज ठाकरे ने अपने बेटे के साथ गृह मंत्री अमित शाह से भेंट की। सूत्रों से मिल रही खबर के अनुसार इस भेंट में लोकसभा चुनाव के अंतर्गत राज ठाकरे को दक्षिण मुंबई से लोकसभा का टिकट देने पर सहमति बनी है। बता दें कि 2022 में शिंदे गुट के पास सत्ता आने के बाद भी जनता की भावनाएं बाल ठाकरे ब्रांड के कारण उद्धव से जुड़ी हुई नज़र आ रही थी। महाराष्ट्र की जनता का विश्वास जीतने के लिए एक साल पहले शरद पवार के भतीजे अजीत पवार को भी भाजपा ने अपने साथ जोड़ लिया था। बाल ठाकरे के जीवित रहते राज ठाकरे द्वारा शिव सेना त्यागने के कारण कई लोगों ने राज ठाकरे की जगह बल ठाकरे को चुना था हालांकि उनकी दूसरी पसंद राज ठाकरे ही थे। एक समय शिव सेना का प्रमुख चेहरा रहे राज ठाकरे पर जनता आज भी विश्वास करती है। अगर मराठी माणूस राज ठाकरे NDA से जुड़ते हैं तो शिवसेना पर जनता की विश्वसनीयता दोबारा बनाई जा सकती है।

2014 में प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व को देश के लिए भला बताकर राज ठाकरे ने अपनी कई सभाओं में जोरदार भाषण दिया था। 2014 में मोदी के पक्ष में नज़र आने वाले राज ठाकरे ने अपने तेवर 2019 के चुनाव में बदल लिए। 2019 में राज ठाकरे ने मोदी सरकार पर कई आरोप लगाए। इन आरोपों में एक मुख्य आरोप 2014 में प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए वादों का पूरा ना होना था। हालांकि 2019 में भी मोदी सरकार ने सत्ता में वापसी की पर राज ठाकरे ने इसपर ज्यादा कोई टीका-टिपण्णी नहीं की। अगर भाजपा राज ठाकरे की एंट्री NDA में कराती है तो केवल लोकसभा चुनाव में ही नहीं बल्कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में भी राज ठाकरे की हिंदुत्व की विचारधारा और RSS की सहमति होने के कारण भाजपा को अच्छी खासी बढ़त मिलने की प्रबल संभावना है।

To Top