लावारिस शवों को मिलेंगे अपने, उत्तराखंड डीजीपी ने इन्हें सौंपी अंतिम संस्कार की जिम्मेदारी

देहरादून: कोरोना के इस दौर में मौतों का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। खासकर इस दूसरी लहर में तो कई परिवारों ने अपनों को हमेशा हमेशा के लिए को दिया। उसमें भी सबसे अजीब यह है कि कोरोना संक्रमण के भय के कारण संक्रमित शवों या फिर लावारिश शवों का अंतिम संस्कार करने के लिए मुसीबत आ रही है। इसी के दृष्टिगत डीजीपी उत्तराखंड ने इन लावारिसों के अंतिम संस्कार के लिए अपनों का इंतजाम कर दिया है।

डीजीपी उत्तराखंड अशोक कुमार ने लावारिश शवों के दाह संस्कार हेतु एसडीआरएफ की टीम को तैनात करने के निर्देश दे दिए हैं। डीजीपी का मानना है की एसडीआरएफ के पास संपूर्ण संसाधन के साथ प्रशिक्षण भी है। इसलिए इस काम के लिए एसडीआरएफ अच्छा काम करेगी।

पुलिस महानिदेशक ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बताया कि दाह संस्कार के दौरान पीपीई किट और साथ में अच्छी क्वालिटी के मास्क पहनना अनिवार्य है। इसके साथ ही उन्होंने ऑक्सीजन, दवाओं, बेड की कालाबाजारी करने वालों पर रोक लगाने के लिए सख्ती दिखाई। एंबुलेंस का किराया ज्यादा लेने वालों पर भी कार्यवाही के निर्देश दिए।

साथ ही डीजीपी अशोक कुमार ने कहा की बाहर से आने पर सख्ती से रजिस्ट्रेशन और नेगेटिव कोरोना जांच रिपोर्ट की चेकिंग की जाए। इसके अलावा कोरोना समर्पित पुलिस बल अच्छे मास्क और फेस शील्ड का इस्तेमाल करेंगे। किसी पुलिसकर्मी को खुद को या उसके परिवार को ऑक्सीजन की आवश्यकता हो तो उसे तत्काल लाइन या बटालियन से ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *