Udham Singh Nagar News

उत्तराखंड के पूर्व मंत्री यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव आर्य पर उधमसिंह नगर में हुआ हमला


Source - Dainik Jagran

बाजपुर: इस वक्त की सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है। बाजपुर में पूर्व कैबिनेट मंत्री यशपाल आर्य (Former cabinet minister Yashpal Arya) और उनके पुत्र संजीव आर्य (Sanjeev Arya) पर हमला हुआ है। बताया जा रहा है कि उनके 2 समर्थकों ने अपनी जान पर खेलकर उन्हें बचाया है। गौरतलब है कि हाल ही में यशपाल आर्य और संजीव आर्य ने बीजेपी छोड़ कर कांग्रेस ज्वाइन की थी।

Ad

दोनों के कांग्रेस ज्वाइन (joined Congress) करने के बाद से ही प्रदेश में सियासी भूचाल आ गया है। कई सारे लोगों ने इसका समर्थन किया है तो कइयों ने विरोध भी किया। अब बाजपुर में यशपाल आर्य और संजीव आर्य पर हमला (attack in Bajpur) हो गया है।

यह भी पढ़ें 👉  पहाड़ों की रानी मसूरी में हुई सीजन की दूसरी बर्फबारी...वीकेंड पर लुत्फ उठाने पहुंचे सैलानी

इसी दौरान संजीव आर्य ने आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ( police ) की मौजूदगी में 20 लोगों के साथ किंदा ने लाठी-डंडों से हमला किया। संजीव आर्य की मानें तो उनके पिता यशपाल आर्य और उनकी जान लेने की पूरी कोशिश की गई थी। वह तो गनीमत रही कि दो समर्थकों ने जैसे-तैसे बीच में आकर उन्हें बचा लिया। वरना कोई भी अनहोनी हो सकती थी।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी सफलता...नैनीताल पुलिस ने पकड़ी कॉर्बेट में सप्लाई होने वाली 60 लाख की हेरोइन व स्मैक

संजीव आर्य ने कहा कि मामले की पूरी छानबीन होनी चाहिए और जिस किसी ने भी हमला करवाया है उस को कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। बता दें कि इस समय यशपाल आर्य और संजीव अपने समर्थकों के साथ बाजपुर थाने में मौजूद हैं। उन्होंने आरोपी पर कार्रवाई की मांग को लेकर प्रदर्शन शुरू कर दिया है। पूर्व मंत्री यशपाल अपने बेटे संजीव के साथ थाने में ही धरने पर बैठ गए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  पार्टी बदली, चेहरे वही...नैनीताल में फिर आमने सामने होंगे संजीव आर्य और सरिता आर्य

रिपोर्ट के अनुसार यशपाल आर्य के काफिले को बाजपुर में लभेड़ा पुल के पास कुछ लोगों ने रोक लिया। इस दौरान यशपाल के खिलाफ जोरदार नारेबाजी के साथ प्रदर्शन शुरू कर दिया। साथ ही काले झंडे दिखाए। इस बीच मारपीट और हाथापाई के आरोप भी लगे हैं। इस दौड़ा यशपाल आर्य के साथ संजीव आर्य भी मौजूद थे।

To Top