Haridwar News

विवादों में घिरे बाबा रामदेव का बड़ा दावा,कहा पतंजलि ने तैयार की ब्लैक फंगस की आयुर्वेदिक दवा

विवादों में घिरे बाबा रामदेव का बड़ा दावा,कहा पतंजलि ने तैयार की ब्लैक फंगस की आयुर्वेदिक दवा

हरिद्वार: विवादों के फेर में फंसे हुए योगगुरु बाबा रामदेव ने एक बड़ा दावा किया है। उन्होंने ब्लैक फंगस महामारी के लिए दावा किया है। बाबा रामदेव का कहना है कि पतंजलि ने ब्लैक फंगस की आयुर्वेदिक दवाई खोज निकाली है। हालांकि अभी इसे बाजार में भेजने से पहले तमाम औपचारिकताओं को पूरा करना बाकी है। उन्होंने बताया कि व्हाइट और यलो फंगस की दवा पर भी शोध जारी है।

ये सब जानते हैं कि कोरोना महामारी के कहर के साथ साथ अब ब्लैक फंगस भी कहर बरपा रहा है। उत्तराखंड समेत कई प्रदेशों में इसे महामारी घोषित कर दिया गया है। इसमें लगने वाले इंजेक्शन ना सिर्फ महंगे बताए जा रहे हैं बल्कि एकदम से उनकी किल्लत भी सामने आई है। ऐसे में अब पतंजलि द्वारा ब्लैक फंगस की दवाई बनाने का दावा करना लोगों को राहत भी दे रहा है और यह संशय भी हो रहा है कि इतनी जल्दी दवा कैसे तैयार हो गई।

दरअसल बाबा रामदेव ने इस बारे में बताया कि ब्लैक फंगस की बीमारी को देखते हुए इसकी दवा बनाने पर विचार किया गया। जिसके बाद पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण के दिशा-निर्देशन में पतंजलि रिसर्च सेंटर प्रमुख डा. अनुराग वाष्र्णेय के नेतृत्व में शोध टीम ने इस पर काम करना शुरू कर दिया था।

यह भी पढ़ें: हरिद्वार-देहरादून में बनेगा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट, दिल्ली के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे

यह भी पढ़ें 👉  फिल्म शूटिंग का गढ़ बना उत्तराखंड, अगली फिल्म के लिए पहाड़ आएंगी श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में कोरोना Curfew की गाइडलाइन जारी, नए बदलावों पर डाले नजर

बाबा के दावे के अनुसार पतंजलि योगपीठ में स्थित पतंजलि रिसर्च सेंटर ने ब्लैक फंगस की आयुर्वेदिक दवा तैयार कर ली है। इसका सारा श्रेय बाबा रामदेव ने आचार्य बालकृष्ण और डा. अनुराग वाष्र्णेय को दिया है। आचार्य बालकृष्ण ने भी बताया कि दवाई का शोध पूरा होने के बाद अब सरकारी एजेंसियों से मंजूरी लेने के साथ ही अन्य जरूरी औपचारिकताएं भी पूरी की जा रही हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कोरोना Curfew 14 दिन बढ़ाया गया, बाजार रात 9 बजे बंद होगा

आचार्य बालकृष्ण ने जानकारी दी कि करीब एक से दो हफ्ते में काम पूरा हो जाएगा। जिसके बाद इसे सार्वजनिक घोषणा कर मानव मात्र की सेवा में समर्पित कर दिया जाएगा। बता दें कि यह दावा विवादों के बीच आया है। इसलिए इसकी काफी चर्चाएं हो रही हैं। गौरतलब है कि हाल में बाबा रामदेव ने एलोपैथी के खिलाफ मोर्चा खोला था जिसके बाद विवादों का बाजार गरमा गया था।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 10वीं पास युवाओं की भी लगेगी पोस्ट ऑफिस में नौकरी, तुरंत करें आवेदन

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:गरूड़ के पंकज परिहार बने भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट,अब बदलेंगे दिन

यह भी पढ़ें: भावुक पल: चंपावत में बेटा कोरोना को हराकर घर लौटा तो मां ने तिलक लगाकर किया स्वागत

यह भी पढ़ें: कर्फ्यू में दिल्ली से देवभूमि पहुंच गई युवती,पुलिस ने रोका तो कहा तप्तकुंड से अमृत लेने आई हूं,पढ़ें रोचक कहानी

यह भी पढ़ें: तो ये होगा हल्द्वानी में बन रहे 500 बेड के नए अस्पताल का नाम, जनरल को होगी सच्ची श्रद्धांजलि

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top