HomeUttarakhand NewsBageshwar Newsबहुत दुखद: तरमोली गांव के घर का चिराग बुझा, झूला बना 12...

बहुत दुखद: तरमोली गांव के घर का चिराग बुझा, झूला बना 12 वर्षीय अमन की मौत का कारण

बागेश्वर: जिले से एक बड़ी ही दुखद खबर सामने आ रही है। छोटे से गांव में निवास करने वाले परिवार के घर का चिराग बुझ गया है। झूला झूलते वक्त गले में फंदा लगने से 12 साल के बेटे की मौत हो गई है। घटना के बाद से तो जैसे इलाके में सन्नाटा पसर गया है। घर वाले रोने-बिलखने को मजबूर हो गए हैं।

दरअसल बागेश्वर के काफलीगैर तहसील के क्षेत्र असों के तरमोली गांव में एक मासूम की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार बच्चे की मौत झूले पर खेलते वक्त हुई है। राजस्व पुलिस उपनिरीक्षक तारा दत्त पाठक ने तमाम महत्वपूर्ण जानकारी देते हुए घटनाक्रम से भी अवगत कराया।

पुलिस उपनिरीक्षक के अनुसार तरमोली गांव के रहने वाले गोविंद सिंह का 12 वर्षीय पुत्र अमन मंगलवार की शाम घर के पास खेलने गया था। वह वहीं पास के पेड़ में लगे झूले में झूल रहा था।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी: कमल कन्याल और अंजू तोमर को CAU देगा 51 हजार रुपए का पुरस्कार

यह भी पढ़ें: शनिवार को बंद रहेगा हल्द्वानी बाजार, नगर निगम पूरे बाजार को सैनेटाइज कराएगा

झूलते-झूलते ही एक अनहोनी घट गई। अमन के गले में झूले से फंदा लग गया। जिसके चलते मासूम की मौत हो गई। बता दें कि वह तरमोली के हाईस्कूल में सातवीं कक्षा का छात्र था।

घटना की जानकारी मिली तो ग्रामीण भी मौके पर आ पहुंचे। उपनिरीक्षक पाठक से मिली जानकारी के मुताबिक गोविंद का केवल एक ही बेटा है। वाकई घर का इकलौता चिराग इतनी कनम उम्र में हादसे का शिकार हो गया। उसके असमय चले जाने से घरवालों का बुरा हाल है।

यह भी पढ़ें: वाह हल्द्वानी वालों, चोरी की शिकायत करवा कर भूल गए, पुलिस ने ढूंढ लिए हैं आपके मोबाइल

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में बढ़ती चोरी,अब आम्रपाली इंस्टीट्यूट के सहायक प्रोफेसर का घर उच्चकों ने किया साफ

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में 2220 कोरोना वायरस के मामले सामने आए, मौत का आंकड़ा भी 1800 पार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: GGIC की तीन टीचर निकली पॉजिटिव, छात्राओं की तबीयत भी खराब

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here