Uttarakhand News

पूरे भारत में किरकिरी के बाद उत्तराखंड में बड़ा फैसला, आ गई शिक्षकों की शामत, पढ़ें

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: प्रदेश और देश के भविष्य के बेहतर निर्माण के लिए सबसे जरूरी अगर कुछ है तो वह बेहतर शिक्षा है। शिक्षा का ढांचा अगर अच्छा है तो प्रगति निश्चित है। उत्तराखंड में विद्यालयी शिक्षा के क्षेत्र में बड़ा बदलाव होने जा रहा है। खराब प्रदर्शन के बाद उत्तराखंड सरकार में शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने एक बड़ा आदेश जारी किया है।

आपको बता दें कि इस आदेश के बाद अब कोई भी शिक्षक हमेशा के लिए एक ही स्थान पर अपनी पूरी ड्यूटी नहीं कर सकेगा। दरअसल, शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने शिक्षा सचिव रविनाथ रमन को एक स्थान पर जमे अफसर व कार्मिकों को हटाने के आदेश दिए हैं। ऐसा इसलिए किया है क्योंकि राष्ट्रीय स्तर के आंकड़ों के अनुसार उत्तराखंड में शिक्षा का स्तर खराब है।

शिक्षा मंत्री के आदेशों के बाद अपर निदेशक बेसिक एसपी खाली ने निदेशक से लेकर ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कार्यालय तक तैनात अधिकारी और कार्मिकों का ब्योरा तलब कर लिया है। आपको याद दिला दें कि केंद्र सरकार नहीं परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडेक्स पीजीआई कुछ दिन पहले जारी की थी। जिसमें उत्तराखंड को देशभर में 35 वां स्थान मिला था।

यह भी पढ़ें 👉  पटवारी पेपर लीक मामले में SIT को फिर मिली बढ़त, उत्तर प्रदेश और दिल्ली का लिंक मिला

इस रिपोर्ट में खराब प्रदर्शन दर्शाए जाने के बाद शिक्षा मंत्री धनसिंह रावत ने फैसला किया है। अब धन सिंह रावत ने कहा है कि शिक्षा के स्तर पर सुधार करने के लिए यह जरूरी है कि लंबे समय से एक ही स्थान पर तैनात कार्मिकों व अधिकारियों को अन्यत्र स्थानों पर तैनात किया जाए और इस दिशा में कार्यवाही जल्दी की जाए।

To Top