Champawat News

उत्तराखंड:शीला देवी मंदिर परिसर में शराब पीकर आए तो हजारों की लगेगी चपत,पशु बलि पर भी हुआ फैसला

उत्तराखंड:शीला देवी मंदिर परिसर में शराब पीकर आए तो हजारों की लगेगी चपत,पशु बलि पर भी हुआ फैसला

चंपावत: राज्य को देवभूमि नाम से क्यों पुकारा जाता है। इससे तो हर कोई रूबरू है। प्रदेशवासियों में ईश्वर के प्रति आस्था देखते ही बनती है। यहां मंदिरों की भरमार है। मंदिरों में कुछ भी अनुचित गतिविधि ना हो, इसलिए हर मंदिर की अपनी समितियां हैं। इधर जिले के लधियाघाटी क्षेत्र में स्थित शीला देवी मंदिर समिति ने मंदिर परिसर के लिहाज से कुछ अहम फैसले किए हैं।

मंदिर समिति ने परिसर में पशु बलि पर पूरी तरह से रोक लगा दी है। ना ही अब शराब पीकर कोई व्यक्ति मंदिर में प्रवेश कर सकेगा। अगर कोई शराब पिया हुआ व्यक्ति अंदर पाया जाता है तो उससे पांच हजार रुपए जुर्माना लिया जाएगा। इसके अलावा मंदिर परिसर और आसपास में पेड़ पौधे काटने पर भी प्रतिबंध लगा दिया है। कोई यह कृत्य करता है तो जुर्माने के साथ कानूनी कार्रवाई भी किए जाने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: बेटी की शादी के दिन कोरोना ने छीन ली पिता की सांसें, मचा कोहराम

यह भी पढ़ें: जेईई एडवांस 2021 स्थगित,IIT खड़गपुर ने जारी की अधिसूचना

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कोरोना Curfew 14 दिन बढ़ाया गया, बाजार रात 9 बजे बंद होगा

शीला देवी मंदिर समिति की बैठक संपन्न हुई। जिसमें लॉटरी के तहत तीसरी बार राजेंद्र कोटिया पुजारी बन गए। अब यह फैसला हुआ है कि आगे भी इसी प्रक्रिया से पुजारी का चुनाव होगा। इधर, मंदिर समिति के अध्यक्ष दीवान सिंह बडेला और सदस्य नवीन सिंह भंडारी ने बताया कि मंदिर में पशु बलि देना अब से वर्जित है। यह करते पकड़े जाने पर संबंधितों के खिलाफ जुर्माना लगाने के साथ कानूनी कार्रवाई किए जाने का निर्णय लिया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 10वीं पास युवाओं की भी लगेगी पोस्ट ऑफिस में नौकरी, तुरंत करें आवेदन

बता दें कि मां पूर्णागिरि धाम और बग्वाल युद्ध के लिए प्रसिद्ध मां बाराही धाम में पशुबली को पहले से ही पूरी तरह रोक दिया गया है। अब शीला देवी मंदिर में भी इस पर रोक लगा दी गई। जिले के घटकू, सीमांत तामली, नीड़, धौन आदि स्थानों में दशहरा पर्व पर की जाने वाली पशुबलियों में भी बीते पांच सालों से प्रतिबंध लगा है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 10वीं पास युवाओं की भी लगेगी पोस्ट ऑफिस में नौकरी, तुरंत करें आवेदन

यह भी पढ़ें: सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने दिए निर्देश, ड्रोन के माध्यम पता लगाया जाएगा नदियों का बहाव

यह भी पढ़ें: बाबा रामदेव का विवादित बयान,गिरफ्तार तो किसी का बाप भी नहीं करा सकता

यह भी पढ़ें: वैक्सीन की उम्मीद में बैठी उत्तराखंड सरकार को लगा बड़ा झटका,ग्लोबल टेंडर में किसी ने नहीं लिया भाग

यह भी पढ़ें: भारत सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट पहुंचा WhatsApp, कहा संविधान के खिलाफ हैं नए नियम

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top