उत्तराखंड:कोरोना संक्रमित मृतकों को अपने पैतृक स्थान ले जा सकेंगे परिजन

देहरादून: कोरोना वायरस राज्य में तेजी से अपने पैर एक बार फिर पसार रहा है। एक दम से कोरोना वायरस के मामलों में उछाल देखने को मिल रहा है। देश में कोरोना वायरस के एक लाख से ज्यादा केस सामने आए हैं। उत्तराखंड सरकार ने सभी जिलो से सतर्क रहने के निर्देश दिए हैं। जिले में कैसे कोरोना वायरस के मामलों को रोका जाए, इस पर भी मंथन शुरू हो गया है।

देहरादून जिला प्रशासन ने बड़ा फैसला लिया है। कोरोना संक्रमित मृतकों को पैतृक स्थान ले जाने की अनुमति परिजनों को दी जाएगी। इस बारे में देहरादून के डीएम डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते मृत्यु होने पर मरीज का शव परिजनों को नहीं सौंपा जाता था। प्रशासन टीम के समक्ष ही पूरे नियमों के साथ अंतिम संस्कार होता था। अब लोगों को अगर शव को पैतृक गांव ले जाना हो तो उन्हें प्रशासन से अनुमति लेनी होगी। इसके अलावा कोविड सुरक्षा के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में ठेकेदारों का सिंचाई विभाग के खिलाफ धरना,मांग पूरी ना होने पर दी चेतावनी

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में 12 लोग निकले कोरोना संक्रमित,बनाए गए पांच नए कंटेनमेंट जोन,यहां देखें लिस्ट

यह भी पढ़ें: हरिद्वार जिले के सभी स्कूल 15 अप्रैल तक रहेंगे बंद, DM ने जारी किया आदेश

यह भी पढ़ें: नैनीताल:कोरोना को हराने के लिए डीएम गर्ब्याल ने फ्लोर पर उतारा प्लान “कांटेक्ट ट्रेसिंग”

यह भी पढ़ें: महंगा ना पड़ जाए हल्द्वानी मंडी से सब्ज़ी खरीदना,नियम नहीं माने तो पड़ेगा हज़ार रुपए का जुर्माना

यह भी पढ़ें: बेरीनाग में सनसनीखेज़ वारदात, कमरे में मिले एक ही परिवार के तीन लोगों के शव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *