Nainital-Haldwani News

कोरोना के दौर में भी सकारात्मकता खोज लाया हल्द्वानी का EDU MOUNT स्कूल,ज़रूर पढ़ें ये अद्भुत मैसेज


हल्द्वानी: किसी भी नकारात्मक स्थिति से सकारात्मकता को निकाल कर लाना, बहुत ही मुश्किल पर महानता का काम होता है। अगर विद्यालय इस गुण में निपुण हो जाएं, तो समाज का चौतरफा विकास होना तो जैसे तय है। हल्द्वानी स्थित एड्यू माऊंट इंटरनेशनल स्कूल ने कोरोना काल में बच्चों और अभिभावकों के अंदर सकारात्मकता बनाए रखने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

दरअसल कोरोना के आने के बाद से ही सबसे बड़ा संकट स्कूलों और बच्चों की पढ़ाई को लेकर आया। शुरुआत में ऑनलाइन पढ़ाई करना ना सिर्फ बच्चों के लिए बल्कि टीचर्स के लिए भी अटपटा था। अभिभावकों के लिए यह शुरुआती दौर सबसे अजीब रहा। मगर अब धीरे धीरे गाड़ी पटरी पर आ गई है।

यह भी पढ़ें: नैनीताल जिले में दूसरे राज्यों से आने वालों को अब होना पड़ेगा क्वारंटाइन

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड बड़ी खबर, पूर्व सांसद बची सिंह रावत का निधन

हल्द्वानी बरेली रोड श्रीपुरम स्थित EDU MOUNT इंटरनेशनल स्कूल अपने बेहतरीन परिणामों और अभिनव प्रयासों के लिए जाना जाता है। बता दें कि यह एक प्ले स्कूल है। स्कूल की प्रधानाचार्या नम्रता सेन बताती हैं कि कोरोना दौर के शुरुआती समय में छात्रों और उनके पेरेंट्स को काफी दिक्कतें आईं। मगर अब सब सही ढंग से चल रहा है। उन्होंने बताया कि अभिभावकों और खुद छात्रों की तरफ से काफी अच्छा रिस्पॉंस रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  सफाई कर्मचारियों के समर्थन में उतरे सुमित हृदयेश, हल खोजे नगर निगम नहीं तो होगा उग्र आंदोलन

प्रधानाचार्या नम्रता सेन ने हल्द्वानी लाइव से बात करते हुए कहा कि कोरोना काल में नकारातम्क चीज़ों पर ध्यान दिया जाए तो दिमाग खराब हो सकता है मगर अगर हम सकारात्मक दृष्टिकोण से इसको देखें, तो हमें काफी अलग अनुभूति होती है। उन्होंने बताया कि अभिभावक और छात्रों के बीच की दूरी कम करने में इस समय ने काफी बेहतर काम किया है। इतना ही नहीं बच्चों के साथ साथ माता-पिता भी ऑनलाइन क्लासेस और टीचर्स से बहुत कुछ सीख रहे हैं। कुल मिलाकर आपसी संबंधों के हिसाब से यह दौर सकारात्मक है।

यह भी पढ़ें 👉  उपचुनाव से पहले सियासी हवा हुई तेज उदयलाल डांगी और दीपेंद्र कुंवर बीजेपी से किए गए निष्कासित

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में नया नियम,बिना मास्क वालों से वसूला जाएगा पहले से ढाई गुना ज्यादा जुर्माना

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के दिन भी राहत नहीं, उत्तराखंड में 2630 कोविड केस मिले

इसके अलावा प्रधानाचार्या ने कहा कि हमारे पास रास्ते हमेशा होते हैं लेकिन कई बार हम उन्हें खोजना नहीं चाहते। बता दें कि कई लोगों का मानना है कि ऑनलाइन क्लासेस में बच्चों को वो असल क्लास वाला अनुभव नहीं मिल सकता। लेकिन EDU MOUNT इंटरनेशनल स्कूल की प्रधानाचार्य नम्रता सेन बताती हैं कि वे ऑनलाइऩ ही कई सारी एक्टिविटी भी कराते हैं। साथ ही सुबह प्रार्थना भी होती। इसलिए रास्ते खोजने से सब मिल सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड आपदा: AAP ने भाजपा सरकार पर लगाए भ्रष्टाचार व लापरवाही के आरोप, किया मौन धरना प्रदर्शन

साथ ही उन्होंने बताया कि कुछ दिक्कतें तो ज़रूर सामने आती हैं। जैसे कि बच्चों को पेंसिल पकड़ना सिखाना ऑनलाइन मुश्किल होता है। मगर फिर भी पेरेंट्स की हेल्प के साथ बच्चे काफी अच्छा कर रहे हैं। इसके अलावा स्कूल में हर दो-तीन महीने में टेस्ट भी कराए जाते हैं। प्रधानाचार्या ने कहा कि किसी भी स्थिति को बुरा भला कहना आसान होता है। हमें कोशिश करनी चाहिए कि विषम स्थिति को मौके में बदला जाए।

यह भी पढ़ें: जीबी पंत यूनिवर्सिटी में मची खलबली, एक साथ 29 छात्र निकले कोरोना पॉजिटिव

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला,शादी में केवल 100 लोगों की होगी एंट्री

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top