Rajasthan

केंद्र में राजस्थान के नेताओं की बढ़ती संख्या…क्या विधानसभा चुनाव में पड़ेगा फर्क

Ad
Ad
Ad
Ad

नई दिल्ली: केंद्रीय राजनीति में राजस्थान का प्रतिनिधित्व लगातार बढ़ रहा है। केंद्रीय मंत्रियों की बात करें तो राजस्थान से गजेंद्र सिंह शेखावत, अर्जुन मेघवाल, कैलाश चौधरी बड़ी जिम्मेदारी निभा रहे हैं। इसके अलावा ओम बिड़ला लोकसभा के अध्यक्ष हैं। अब जगदीप धनखड़ के उपराष्ट्रपति बनने के बाद राजस्थान की गरिमा और प्रतिष्ठा दोनों बढ़ गई है। वहीं सुनील बंसल को भी राष्ट्रीय महामंत्री की जिम्मेदारी दी गई जिसे राजस्थान के दृष्टीकोण से बेहद अहम माना जा रहा है। यह भी पढ़ें…

राजस्थान के नेताओं को निरंतर केंद्र में अहम जिम्मेदारी मिल रही है। इससे साफ नजर आता है कि राजस्थान के नेताओं के कौशल को केंद्र अच्छी तरह से इस्तेमाल करना चाहता है। साल 2023 में विधानसभा चुनाव भी होने हैं और ऐसे में ये अनुभवी नेता भाजपा को बढ़त दिलाने और रणनीति तैयार करने में अहम योगदान देंगे। हालांकि चुनाव में इन नेताओं का केंद्र में कद कितना वोटरों को प्रभावित करेगा ये बात में पता चलेगा।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top