Uttarakhand News

ओम शांति, मांडो गांव आपदा में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, 15 दिन पहले ही दिल्ली से आए थे गांव


ओम शांति, मांडो गांव आपदा में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत, 15 दिन पहले आए थे गांव

उत्तरकाशी: हाल में मांडो गांव में बादल फटने के कारण भारी तबाही के मंजर देखने को मिले। घटना में एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत होने से मातम छा गया। बता दें कि मृतकों में शामिल माधुरी और रितु रिश्ते में देवरानी-जेठानी थीं। रितु अपनी छह साल की बेटी के साथ 15 दिन पहले ही गांव आई थी।

इधर मांडो गांव निवासी देवानंद भट्ट के छोटे भाई दीपक व उसकी पत्नी रितु दोनों दिल्ली में एक प्राइवेट कंपनी में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर कार्यरत हैं। कोरोना के कारण वर्क फ्रॉम होम की इजाज़त मिली तो दीपक भट्ट की पत्नी रितु बेटी के साथ उत्तरकाशी आकर काम घर से ही निपटाने लगी।

यह भी पढ़ें 👉  छोटे वाहनों के लिए जल्द शुरू होगा गौलापुल, सीएम धामी एक बार फिर निरीक्षण करने पहुंचे

यह भी पढ़ें: नैनीताल जा रही कार पर गिरा बोल्डर, हरियाणा निवासी पर्यटक की मौत

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अब पेट्रोल चोरों ने किया नाक में दम, घर के बाहर भी सुरक्षित नहीं हैं वाहन

ऐसे में रविवार रात बादल फटने से भारी जल प्रलय आ गया। गदेरा उफान पर आ गया। रितु अपनी बेटी और जेठानी के साथ घर से बाहर निकली ही थी कि तीनों मलबा और पानी के जलजले में समा गए। देवानंद द्वारा सर्च एंड रेस्क्यू के लिए पहुंची एसडीआरएफ और आपदा प्रबंधन की टीम को फौरन जानकारी दी गई।

बाद में तीनों के शव बरामद हुए। देवानंद को इस बाक का दुख है कि उलने अपने छोटे भाई के परिवार को गांव बुलाने के लिए क्यों कहा होगा। बता दें कि क्षेत्र में बीएसएनएल का नेटवर्क गायब व सेवा ठप रहने से किसी भी अधिकारी को फोन नहीं मिल रहा है। बीएसएनएल के अधिकारियों का कहना है कि अत्यधिक बारिश के चलते केबल कटने से सेवा बाधित हुई है। 

यह भी पढ़ें 👉  RTI में खुलासा, विधायक निधि खर्च करने में नंबर वन हैं संजीव आर्य

यह भी पढ़ें: नैनीताल: पहाड़ी लोक संस्कृति के बूते जन-जन तक पहुंचेंगी सरकार की योजनाएं

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में होगी जियोलॉजिस्ट की नियुक्ति, बैठक में सीएम धामी ने दिए निर्देश

कंकराड़ी के ग्रामीणों के मुताबिक घटना की सूचना जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी को देनी थी लेकिन फोन नहीं मिला। डीएम का नंबर बंद आया। बीएसएनएल के डीजीएम पीके शर्मा ने बताया कि अत्यधिक बारिश के चलते कई स्थानों पर केबल कटने से सेवा बाधित हुई है। सेवा को दुरुस्त करने के लिए टीम प्रयासरत है। 

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा से हल्द्वानी यात्रा के लिए इन मार्गों को खोला गया, हेल्पलाइन नंबर भी जारी

बहरहाल जिले में नेटवर्क की इतनी ज्यादा दिक्कतों के बाद जिलाधिकारी ने अपना नंबर बदल लिया। अतिरिक्त जिला सूचना अधिकारी सुरेश कुमार के अनुसार जन सामान्य की सुविधा को देखते हुए जिलाधिकारी ने नया नंबर लिया है। आम लोगों मोबाइल नंबर 9027249118 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: मलबे में ढाई घंटे दबे रहे 75 वर्षीय गैणा सिंह ने मौत के मुंह से छीनी जिंदगी

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी भट्ट कॉलोनी निवासी पूर्व सैनिक की होटल में मौत,दो लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top