Udham Singh Nagar News

उत्तराखंड पुलिस ने नाबालिग को बालिग मानकर भेज दिया जेल, अजीब है ये मामला


काशीपुर: पुलिस कई बेहतरीन काम इस दौर में कर रही है। साथ ही उत्तराखंड की पुलिस किस कदर काम करते आई है। यह काबिले तारीफ है मगर कभी-कभी कुछ थानों से अजीबो गरीब मामले सामने आते रहते हैं। ऐसा ही एक मामला काशीपुर से सामने आया है। आइटीआइ थाना पुलिस ने पहले जिस किशोर को 14 वर्षीय मानते हुए जेल भेजा, अब उसे बालिग मानकर जेल भेज दिया।

जानकारी के अनुसार आइटीआइ थाना पुलिस ने नगर की पशुपति बिहार कॉलोनी निवासी एक किशोर के खिलाफ साल 2020 में 207/2020 अपराध संख्या पर मुकदमा दर्ज किया। इस समय किशोर की उम्र पुलिस ने 14 साल मानकर वारंट लेकर उसे बाल सुधार गृह भेज दिया। अब किशोर जमानत पर तो छूट गया मगर इस साल 24 अप्रैल को फिर से उसे थाना आइटीआइ ने किसी अपराध में पकड़ लिया।

दरअसल उसके खिलाफ अपराध संख्या 95/2021 पर दूसरा मुकदमा दर्ज हुआ। इस बार पुलिस ने उसे वारंट लेकर हल्द्वानी उप कारागार भेज दिया। हैरानी की बात तो यही है कि जो किशोर पिछले साल 14 वर्षीय था उसे पुलिस ने इस बार 18 वर्ष का मानकर बालिग कैसे घोषित कर दिया। इस दौरान परिवारजनों ने भी उम्र कम होने की बात कही मगर किसी ने नहीं सुना।

सामाजिक कार्यकर्ता एडवोकेट संजीव कुमार आकाश ने राष्ट्रीय बाल संरक्षण आयोग, राज्य बाल संरक्षण आयोग, डीजीपी सहित चार अधिकारियों को पत्र भेजकर मामले की शिकायत की है। उन्होंने स्कूल की टीसी को आधार बनाकर पुलिस पर किशोर के शारीरिक व मानसिक शोषण के आरोप लगाए हैं और न्याय की मांग की है।

यह भी पढ़ें 👉  फिल्म शूटिंग का गढ़ बना उत्तराखंड, अगली फिल्म के लिए पहाड़ आएंगी श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर

आकाश ने मामले को लेकर अध्यक्ष राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग, अध्यक्ष राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग, डीजीपी उत्तराखंड और डीएम ऊधमसिंहनगर को पत्र भेजा है। उन्होंने बताया कि किशोर अपचारी को उप कारागार भेजना कायदे से उसके बाल अधिकारों के खिलाफ है। ऐसी स्थिति में किशोर न्याय अधिनियम 2016 का उद्देश्य ही समाप्त हो जाता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कोरोना Curfew 14 दिन बढ़ाया गया, बाजार रात 9 बजे बंद होगा

एसओ आइटीआइ विद्यादत्त जोशी ने जानकारी दी। उन्होंने कहा कि ऐसा कोई मामला ध्यान में नहीं। साथ ही कहा कि पुलिस अपने सामने रखे तथ्यों पर कार्रवई करती है। अगर पशुपति बिहार कॉलोनी निवासी आरोपित किशोर है तो अदालत में अर्जी देकर स्वयं को नाबालिग साबित कर सकता है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कोरोना Curfew 14 दिन बढ़ाया गया, बाजार रात 9 बजे बंद होगा

यह भी पढ़ें: वैक्सीन के लिए कंपनियों से डायरेक्ट संपर्क कर रही है उत्तराखंड सरकार

यह भी पढ़ें: नैनीताल जिले में स्थित कैंची धाम में फटा बादल

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर, कैंची धाम में नहीं लगेगा वार्षिक मेला

यह भी पढ़ें: दूसरे राज्यों के लिए पूरी तरह से बंद हुआ बसों का संचालन,ना आएंगी और ना ही जाएंगी

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी:ज्यादा रुपए लेने वाली लैब पर केस दर्ज,अब एंबुलेंस के रेट हुए तय

यह भी पढ़ें: मुखानी Path kind Lab की पकड़ी गई चोरी,RTPCR टेस्ट के नाम पर कालाबाजारी

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top