Ad
Uttarakhand News

उत्तराखंड में कोरोना की चौथी लहर का खतरा, बाहर से आने वालों की जांच के लिए जारी होगी SOP!

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी की गाइडलाइन,छोटे बच्चों के लिए मास्क पहनना जरूरी नहीं,पूरा पढ़ें
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: कोरोना संक्रमण की गति में तेजी आने के बाद संभावित चौथी लहर का खतरा फिर से चिंता का सबब बनता जा रहा है। इसी को देखते हुए अब स्वास्थ्य विभाग द्वारा टीकाकरण सेंटर बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही टेस्टिंग भी ज्यादा करने की हिदायत दी गई है। शासन का भी निर्देश है कि टेस्टिंग बढ़ाई जाए। जल्द ही बॉर्डर पर टेस्टिंग के निर्देश भी जारी हो सकते हैं।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए कोरोना सम्यक व्यवहार का अनुपालन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। बीते दिन पीएम मोदी द्वारा कोराेना नियंत्रण को लेकर आयोजित की गई वर्चुअल बैठक में सीएम धामी और स्वास्थ्य मंत्री धन सिंह रावत ने भी प्रतिभाग किया। माना जा रहा है कि जल्द ही प्रदेश में नई एसओपी जारी हो सकती है। जिसके तहत अन्य राज्यों से आने वालों की टेस्टिंग अनिवार्य की जाएगी।

यह भी पढ़ें 👉  देवभूमि में गरजा सचिन तेंदुलकर का बल्ला, हल्द्वानी के फैंस ने सुनाई आंखों देखी...

ऐसे में जरूरी है कि आप और हम नियमों का उचित रुप से पालन करें। थोड़ी सी भी ढिलाई कोरोना की नई लहर को निमंत्रण दे सकती है। हालांकि टीकाकरण से अधिकतर लोगों को नुकसान होने की उम्मीद कम है। उससे पहले की लहर भी ज्यादा नुकसान नहीं कर पाई थी। लेकिन अब नियमों की पालना में लोग लापरवाही कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं में विजिलेंस टीम का एक्शन, रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया तहसील का अधिकारी

ये लापरवाही आगे चलकर भारी पड़ सकती है। गौरतलब है कि काफी समय के बाद नियमों में इतनी छूट मिली है।इसलिए सभी राहत महसूस कर रहे हैं। ऐसे में जरूरी ये है कि लापरवाही कतई ना की जाए। साथ ही कोरोना को एक चुनौती मानकर ही इससे निपटा जाए।

Join-WhatsApp-Group
To Top