Uttarakhand News

पढ़ाई की क्वालिटी के मामले में उत्तराखंड ने मारी बाजी,देशभर के टॉप 4 राज्यों में मिला स्थान

पढ़ाई की क्वालिटी के मामले में उत्तराखंड ने मारी बाजी,देशभर के टॉप 4 राज्यों में मिला स्थान

देहरादून: प्रदेश में शिक्षा का स्तर कितना बढ़ गया हैै, इसका अंदाजा यहां के युवाओं की लगातार होती उन्नति को देखकर ही पता लगाया जा सकता है। चाहे वह, कठिनतम परीक्षाओं में नंबर लाना हो या भारतीय सेना में शामिल होना। उत्तराखंड के युवा किसी से कम नहीं हैं। यहां की शिक्षा गुणवत्ता कितनी बेहतर है, ये नीति आयोग द्वारा जारी की गई ताज़ा एसडीजी इंडेक्स के तीसरे संस्करण की रैंकिंग से मालूम होता है। देश के बड़े राज्यों को पछाड़ कर उत्तराखंड टॉप 4 में शामिल हो गया है।

दरअसल यूएन द्वारा तय किए गए एसडीजी रैंकिंग को लेकर नीति आयेगी ने रिपोर्ट जारी की है। इसमें शिक्षा की क्वालिटी के आधार पर राज्यों को नंबर दिए गए हैं। बता दें की सूची में केरल पहले स्थान पर है। इसे 100 में से 80 अंक मिले हैं। इसके बाद 74 अंकों के साथ हिमाचल दूसरे और 71 अंकों के साथ गोवा तीसरे स्थान पर है। उत्तराखंड को 70 अंक मिले हैं और राज्य चौथे स्थान पर रहा। बिहार का प्रदर्शन सबसे खराब रहा है। 29 अंकों के साथ वह अंतिम नंबर पर है।

आपको बता दें कि नीति आयोग की ओर से कराया गया यह सर्वे 2030 तक राज्यों को शिक्षा के क्षेत्र में क्या बेहतर करना चाहिए, इसे लेकर था। जानकारी के अनुसार सारी दुनिया के तमाम देशों के लिए तय जो मानक होते हैं, उन्हीं के आधार पर किए जा रहे कार्य को आधार मानकर यह रैकिंग तय की जाती है।

यह भी पढ़ें: नैनीताल: पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मचा कोहराम

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 10वीं पास युवाओं की भी लगेगी पोस्ट ऑफिस में नौकरी, तुरंत करें आवेदन

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: फेसबुक पर दोस्ती, व्हाट्सएप पर वीडियो कॉल, कुछ इस तरह युवती ने ठग लिए हजारों रुपए

समग्र शिक्षा अभियान के अपर राज्य परियोजना निदेशक डा.मुकुल कुमार सती ने सर्वे को करने के कुछ मानकों पर प्रकाश डाला।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कोरोना Curfew 14 दिन बढ़ाया गया, बाजार रात 9 बजे बंद होगा

1. स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति

2. ड्रॉप आउट बच्चे

3. स्कूलों में शिक्षक

4. कक्षा-कक्ष

5. उपलब्ध सुविधा

उत्तराखंड के लिए इस लिस्ट में चौथे नंबर पर रहना अपने आप में बहुत कुछ बयान करता है। इससे अंदाजा लग जाता है कि प्रदेश शिक्षा को लेकर किस दिशा में आगे बढ़ रहा है। इस उपलब्धि पर प्रदेशवासी खासे खुश हैं। इधर, शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम ने भी इसे बड़ी उपलब्धि माना है। उन्होंने कहा कि केरल, हिमाचल और गोवा कई सालों से टॉप पर हैं, उत्तराखंड का चौथे स्थान पर आना बड़ी उपलब्धि है, इसके लिए सभी शिक्षकों और छात्रों को बधाई। उन्होंने यह भी कहा कि हम राज्य को पहले स्थान पर लाने के लिए प्रयासरत हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में कोरोना Curfew 14 दिन बढ़ाया गया, बाजार रात 9 बजे बंद होगा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड CM का फैसला,दिवंगत पत्रकारों के परिवार को मिलेगी 5-5 लाख रुपये आर्थिक सहायता

यह भी पढ़ें: पूर्व में हल्द्वानी के SDM रहे एपी बाजपेई को मिली नई जिम्मेदारी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में कोरोना के खिलाफ लड़ाई को झटका,6 जून तक कार्य बहिष्कार करेंगे ये स्वास्थ्य कर्मी

यह भी पढ़ें: लापरवाही बर्दाश्त करने के मूड में नहीं पूर्ति विभाग, दो सस्ता गल्ला विक्रेताओं के लाइसेंस रद्द

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top