Uttarakhand News

उत्तराखंड में फिर दोहराया इतिहास, एक बार फिर अधूरा रह गया CM का कार्यकाल


हल्द्वानी: प्रदेश की राजनीति हमेशा से ही उथल-पुथल से भरी रही है। साफ शब्दों में कहे तो उत्तराखंड शायद ऐसा एकमात्र राज्य होगा जहां कोई सीएम अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाता। उत्तराखंड राज्य बनने के बाद पहली बार 2002 में मुख्यमंत्री चुने गए स्व. नारायण दत्त तिवारी अभी तक अकेले ऐसे सीएम रहे हैं जिन्होने पांच साल का कार्यकाल पूरा किया।

आपके बता दें कि राज्य गठन के बाद के 20 सालों में अबतक उत्तराखंड के 11 नेता मुख्यमंत्री पद की कुर्सी संभाल चुके हैं। इस बार ऐसा लग रहा था कि त्रिवेंद्र सिंह रावत अपना कार्यकाल पूरा करेंगे। मगर हमेशा की तरह इस बार भी हलचल हुआ और सीएम बदल गया। मतलब त्रिवेंद्र रावत ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  प्रकाश ट्रेडर्स हल्द्वानी: इलेक्ट्रिक स्कूटी में मिल रही है 50 हजार से ज्यादा की सब्सिडी

लिहाजा त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे के पीछे के कारण अभी भी सामने नहीं आए हैं। मगर सूत्रों के अनुसार कई विधायक रावत से खफा थे। जिसके बाद हाईकमान और खुद त्रिवेंद्र सिंह रावत को यह फैसला लेना पड़ गया।

यह भी पढ़ें: दिल्ली से बड़ी खबर, त्रिवेंद्र सिंह रावत ही रहेंगे उत्तराखंड के CM, आज लौटेंगे देहरादून

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में ये क्या हो रहा है,अब मोबाइल दुकान स्वामी को तमंचा दिखाकर जान से मारने की धमकी

वैसे आपको बता दें कि 2000 में पहले सीएम के तौर पर नित्यानंद स्वामी को चुना गया था। इसके बाद 2002 में मुख्यमंत्री बने स्व. नारायण दत्त तिवारी ने भी सीएम की कुर्सी को बड़ी चतुरता के साथ संभाला था। वरना उनकी गद्दी पर भी कईयों की नज़रें गढ़ी हुईं थीं। उसके बाद साल 2007 से साल 2012 में पहले भुवन चंद्र खंडूड़ी, फिर रमेश पोखरियाल निशंक और फिर से भुवन चंद्र खंडूड़ी को सीएम बनाया गया।

यह भी पढ़ें 👉  बधाई दीजिए... बेटियों ने इतिहास रचा है, उत्तराखंड महिला टीम की फाइनल में धमाकेदार एंट्री

साल 2012 से साल 2017 के बीच एक-एक करके विजय बहुगुणा और हरीश रावत ने कार्यभार संभाला। इसके बाद 2017 के विधानसभा चुनावों में भाजपा ने जीत हासिल कर के त्रिवेंद्र सिंह रावत को मुख्यमंत्री बनाया था। अब रावत के इस्तीफे के बाद उत्तराखंड को एक और नया सीएम मिलेगा। इस हिसाब से राज्य में स्व. एनडी तिवारी के बाद ऐसा कोई नेता नहीं आया जिसने अपना कार्यकाल पूरा किया हो।

यह भी पढ़ें 👉  आतंकियों से लोहा लेते वक्त शहीद हो गए विक्रम सिंह नेगी, 22 अक्टूबर को आने वाले थे घर

यह भी पढ़ें: शाही स्नान से पहले SOP जारी,श्रद्धालुओं के लिए पंजीकरण और कोरोना रिपोर्ट अनिवार्य

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी बस स्टेशन में टैक्सी चालक से लूट,सीसीटीवी कैमरे ने दिया पुलिस को मिला सबूत

यह भी पढ़ें: इस स्पोर्ट्स एंकर से होगी बुमराह की शादी, IPL और विश्वकप में आ चुकी हैं नजर

यह भी पढ़ें: शक्ति प्रदर्शन ! त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपने विधायकों और मेयरों को दिल्ली बुलाया

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top