उत्तराखंड वासियों को अपने पहाड़ जाने के लिए भी दिखानी होगी कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट

0
599

देहरादून: राज्य में कोरोना संक्रमण की रोकथाम हेतु कर्फ्यू लगा दिया गया है। यह कर्फ्यू 18 मई तक लागू रहेगा। स्थिति को जिलेवार विभाजन कर देखा जाए तो देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल व ऊधमसिंहनगर जिले सबसे अधिक प्रभावित हुए हैं। अब सरकार ने इन जिलों के मैदानी क्षेत्रों के लिए भी एक अहम अपडेट जारी की है। दरअसल पहाड़ी जाने के लिए कोविड नेगेटिव रिपोर्ट ज़रूरी कर दी गई है।

उत्तराखंड में रविवार को बीते कुछ दिनों के लिहाज से मामलों की संख्या में कमी ज़रूर आई है। लेकिन यह समय ज़रा भी ढील देने के नहीं है। सरकार ने 18 मई तक सख्त कोरोना कर्फ्यू लगा कर भी यही बात साबित की है। देखा जाए तो देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, नैनीताल व ऊधमसिंहनगर जिले ही वह जिले हैं, जिनसे पहाड़ों की तरफ अधिक आवाजाही होती है। ऐसे में पहाड़ों को संक्रमण से बचाने के लिए प्लान बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:11 से 18 मई तक लगा Curfew,केवल तीन घंटे के लिए खुलेंगी ये दुकाने

यह भी पढ़ें: नैनीताल जिले में डीएम ने बढ़ाया कोरोना Curfew, अग्रिम आदेश तक रहेगा लागू

रविवार को सरकार द्वारा जारी की गई एसओपी में साफ लिखा है कि उक्त जिलों से पर्वतीय क्षेत्रों को जाने वाले लोगों पर निगरानी रखी जाए। साथ ही अब पहाड़ पर बिना कोरोना नेगेटिव रिपोर्ट के किसी को जाने की परमिशन ना दी जाए। मतलब अब अगर आपको मैदानी क्षेत्र से पहाड़ पर जाना है तो आरटीपीसीआर अथवा रैपिड एंटीजन की नेगेटिव रिपोर्ट अपने साथ ले जानी होगी।

इसके अलावा सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन्स में यह भी कहा गया है कि बाहरी राज्यों से उत्तराखंड आने वाले व्यक्तियों के साथ ही बस-टैक्सी तालक, परिचालक एवं हेल्पर के लिए भी 72 घंटे पहले तक की आरटीपीसीआर की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाना अनिवार्य होगा। बिना नेगेटिव रिपोर्ट के प्रवेश नहीं दिया जाएगा। साथ ही कर्फ्यू के दौरान औद्योगिक इकाइयों से जुड़े लोगों को घर से लाने-ले जाने का बंदोबस्त खुद इकाइयां करें वरना उनके रहने के लिए उद्योग परिसर में व्यवस्था होगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में सरकार ने 11 मई से 18 मई तक लगाया कोरोना Curfew

यह भी पढ़ें: नैनीताल:सांसद अजय भट्ट ने ऑक्सीजन सिलेंडर और ऑक्सीजन प्लांट के लिए जारी किए 1.06 करोड़ रुपए

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में कोरोना वायरस को हराने वालों का आंकड़ा डेढ़ लाख पार, नए आंकड़े जरूर देखें

यह भी पढ़ें: प्राणायाम को रोजमरा की जिंदगी में किया जाए शामिल,कोरोना को हराएगा उत्तराखंड

Advertisement: EduMount International School

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here