Almora News

उत्तराखंड: घर-घर जाकर डाकिए बनाएंगे पांच साल तक के बच्चों के आधार कार्ड


उत्तराखंड: घर-घर जाकर डाकिए बनाएंगे पांच साल तक के बच्चों के आधार कार्ड

अल्मोड़ा: प्रदेश भर में बीते सालों में आधार कार्ड सबसे अधिक ज़रूरी कागजात बन गए हैं। आधार कार्ड देशवासियों के लिए किसी पहचान पत्र से कम नहीं हैं। लिहाजा अब आधार कार्ड बनाने की सुविधा को और भी सरल बनाया जा रहा है। अब डाकिए घर-घर जाकर लोगों के आधार कार्ड बनाएंगे।

उत्तराखंड में पहले चरण में पांच साल तक के बच्चों के आधार कार्ड बनाने का प्लान लगभग तैयार हो चुका है। इसके लिए बकायदा डाकियों को आईडी देकर ट्रेनिंग देने की तैयारी चल रही है। जिसके बाद वे अपना काम शुरू कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी भोटिया पड़ाव निवासी सिद्धि शाह फिल्म कॉलर बॉम्ब में आई नजर

यह भी पढ़ें 👉  24 दिसंबर को हल्द्वानी में होगी पीएम मोदी की जनसभा, सीएम धामी ने खटीमा को दिया न्यौता

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में तीसरी संतान होने पर छिन गई नगर पालिका सभासद की कुर्सी

देखा जाए तो जबसे ये ऑनलाइन तौर तरीके लोगों को आराम देने लगे हैं। तभी से डाकियों का काम कुछ हद तक कम हो गया है। मगर एक बार फिर डाकिए अहम सेवाएं देते नजर आने वाले हैं। उन्हीं की मदद से घऱ बैठे पांच साल तक के बच्चों के आधार कार्ड बनेंगे।

इसके अलावा अगर किसी को अपने बने बनाए आधार कार्ड में कुछ संशोधन कराना हो जैसे मोबाइल नंबर अपडेट आदि कराना हो तो वह काम भी किया जाएगा। विभाग की ओर से ट्रेनिंग मिलने के बाद अल्मोड़ा मंडल में तो ये काम शुरू हो जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  होमगार्ड्स ने सीएम धामी को स्कूल के दिनों की दिलाई याद, स्थापना दिवस पर कर डाली पुरस्कार की घोषणा

यह भी पढ़ें: बड़ी खबर: कुमाऊं कमिश्नर अरविंद ह्यांकी समेत तीन IAS अफसरों का हुआ ट्रांसफर

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी के रेस्ट्रां में दोस्त के साथ शराब पीने पर संचालक को पुलिस ने पकड़ा

डाकियों का काम ना कि केवल आधार कार्ड बनाना होगा बल्कि वे जनरल इंश्योरेंस यानी वाहन, सुरक्षा आदि के बीमा भी करेंगे। लोगों को घर बैठे बैठे लाभ मिल सकेगा। बहरहाल अल्मोड़ा मंडल (बागेश्वर जिले समेत) में तैनात लगभग 500 डाकियों में 65 को आईडी दी जा चुकी है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड क्रिकेट के आएंगे अच्छे दिन, बीसीसीआई 22 करोड़ रुपए इंफेस्ट करेगा

अल्मोड़ा के डाक अधीक्षक जगत सिंह बिष्ट के अनुसार डाकियों द्वारा घर-घर जाकर शून्य से पांच साल तक के बच्चों का आधार बनाने और मोबाइल नंबर अपडेट करने का शासनादेश जारी हो गया है। डाकियों को ट्रेनिंग देने के बाद सेवा शुरू कर दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: कांवड़ यात्रा को अनुमति देने पर सुप्रीम कोर्ट ने UP सरकार को दिया नोटिस

यह भी पढ़ें: चक दे इंडिया,हरिद्वार निवासी वंदना कटारिया भारतीय महिला टीम में शामिल,टोक्यो ओलंपिक में आएंगी नजर

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top