National News

भारत में दर्ज हुई कोरोना वैक्सीन के कारण पहली मौत, केंद्र ने की पुष्टि


भारत में दर्ज हुई कोरोना वैक्सीन के कारण पहली मौत, केंद्र ने की पुष्टि

नई दिल्ली: देश में कोरोना टीकाकरण अभियान जनवरी से चल रहा है। अब टीका लगाने के बाद पहली मौत की खबरें सामने आई हैं। इसकी पुष्टि खुद केंद्र सरकार द्वारा गठित टीम ने की है। टीम ने बताया कि 68 साल के बुजुर्ग की मौत टीका लगाने के कारण हुई है। इसके पीछे के कारण को वैज्ञानिक भाषा में एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्यूनाइजेशन (AEFI) कहा जाता है।

AEFI के लिए केंद्र सरकार द्वारा गठित टीम ने टीका लेने के बाद हुई 31 मौतों की जांच की। जिसमें 68 साल के बुजुर्ग में टीका लगने के बाद एनाफिलैक्सीस से मौत की पुष्टि हुई है। बता दें कि ये एक तरह का एलर्जिक रिएक्शन होता है। बुजुर्ग को 8 मार्च 2021 को वैक्सीन की पहली डोज लगी थी और कुछ दिन बाद ही उनकी मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें 👉  अब ज्यादा दिन नहीं चलेगा किसान आंदोलन... मोदी सरकार और किसानों में बनी सहमति

कुल 31 मौतों की जांच में टीम को दो मौतों में कुछ शक हुआ है। हालांकि अभी तक ऐसे कोई ठोस सबूत नहीं हैं जो उनमें वैक्सीन से मौत होने की पुष्टि करें। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यह भारत में वैक्सीन के कारण हुई पहली मौत है, जिसकी पुष्टि हुई है। इसके अलावा 16 जनवरी और 19 जनवरी को 22 वर्षीय और 21 वर्षीय युवाओं में भी एनाफिलैक्सीस के केस आए थे मगर ये दोनों ही मरीज अस्पताल में भर्ती होने के बाद ठीक हो गए थे।

यह भी पढ़ें 👉  एक महीने में रेलवे ने बिना टिकट साढ़े तीन लाख लोगों को पकड़ा, कमाई हुई 20 करोड़ से ज्यादा

AEFI कमेटी के चेयरमैन डॉ. एनके अरोड़ा के मुताबिक हजारों में एकाध को एलर्जी से जुड़े रिएक्शन होते हैं। उन्होंने कहा, “अगर वैक्सीनेशन के बाद Anaphylaxis के लक्षण दिखते हैं तो तुरंत इलाज की जरूरत है। 30 हजार से 50 हजार लोगों में से 1 को Anaphylaxis या गंभीर एलर्जी रिएक्शन दिखते हैं।” हालांकि विशेषज्ञों का मानना है कि वैक्सीन के नुकसान नाम मात्र और फायदे ज्यादा हैं। इसलिए टीकाकरण से परहेज करना अच्छा तरीका नहीं।

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top