Nainital-Haldwani News

ऋषभ पंत की मम्मी ने जीता उत्तराखंड वासियों का दिल, पहाड़ी पिछौड़ा पहन शादी में हुईं शामिल


हल्द्वानी: आसमान में उड़ान भरने के बाद इंसान ज़मीन को भूल जाता है। फिर उसे ज़मीन तभी याद आती है जब उसे लौटना पड़ता है। मगर उत्तराखंड देवों की भूमि होने के साथ साथ संस्कारों का गढ़ भी है। यही बात भारतीय क्रिकेटर और उत्तराखंड के मूल निवासी ऋषभ पंत की मम्मी ने दर्शायी है। ऋषभ पंत की मां सरोज पंत ने गौलापार एक शादी में पहुंचकर और वहां पहाड़ी पिछौड़ा पहनकर यह दिखा दिया कि वह उत्तराखंड की लोक संस्कृति को कतई भी नहीं भूली हैं।

दरअसल रविवार को भारतीय टीम के युवा क्रिकेटर ऋषभ पंत की मां सरोज पंत गौलापार में आयोजित शादी फंक्शन में पहुंची। इस दौरान वह पहाड़ी वेशभूषा में नजर आई। उन्होंने गांव पहुंचकर बड़े बुजुर्गों का आशीर्वाद भी लिया। सबसे पहले तो ऋषभ पंत के द्वारा इतना नाम कमा लेने के बाद भी उनकी मां की यहां आना उनके व्यक्तित्व के बारे में बहुत कुछ बयान करता है। उसके बाद पहाड़ी वेशभूषा का धारण करना यह दर्शाता है कि उन्हें पहाड़ों से कितना लगाव है, कितना प्यार है।

यह भी पढ़ें 👉  GGIC समेत हल्द्वानी के 23 स्कूलों में होगी कोरोना जांच, डीएम बोले बच्चों की सुरक्षा जरूरी

यह भी पढ़ें: कमाल हो गया…हल्द्वानी के पीयूष वर्मा का नाम देश के 30 प्रतिभाशाली लोगों में शामिल, फोर्ब्स की लिस्ट जारी

यह भी पढ़ें: देश भर में पहुंचेंगे उत्तराखंड के किसानों के उत्पाद, जल्द पटरी पर दौड़ेगी किसान रेल

सरोज पंत गौलापार में वरिष्ठ अधिवक्ता पूरन चंद्र भगत की बेटी डॉ कामिनी की शादी समारोह में पहुंची थी। वह गणेश पूजा,हल्दी और मेंहदी कार्यक्रम में शामिल हुई। यहीं पर उनका एक वीडियो भी वायरल हुआ जिसमें वह रसोई में पिछौड़ा पहने हुए हैं और कुमाऊंनी रीति रिवाज़ के साथ पकवान बनाती नजर आ रही है। वरिष्ठ अधिवक्ता पूरन चंद्र भगत की बेटी कामिनी भगत की शादी 16 फरवरी को है। सरोज पंत पूरन चंद्र भगत की मौसी की बेटी हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी से पहाड़ जाने में लगेगा अब ज्यादा वक्त,ज्योलीकोट होते हुए पूरी करनी पड़ेगी यात्रा

हमने अधितकर यह बात सुनी है कि कोई अगर प्रसिद्धि पा लेता है, तो वह अपनी जड़ों को भूल जाता है। लेकिन ऋषभ पंत की मां ने शादी में पूरा पहाड़ी रूप धारण कर अपनी बेहतरीन और नेक सोच को जाहिर किया है। उम्मीद है कि ऋषभ पंत आने वाले समय में भारत के लिए बहुत मैच खेलेंगे और जीत भी दिलाएंगे। लेकिन एक बात साफ हो गई कि कुछ भी हो जाए ऋषभ की परवरिश की बदौलत ही वे हमेशा अपने उत्तराखंड, अपनी ज़मीन से जुड़े रहेंगे।

यह भी पढ़ें 👉  जरूरी सूचना: मुखानी समेत हल्द्वानी के इन इलाकों में पूरे महीने होगी बिजली कटौती

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड पहुंचकर भी उत्तराखंड को नहीं भूले जुबिन नौटियाल, चमोली आपदा के लिए बढ़ाया मदद का हाथ

यह भी पढ़ें: अल्मोड़ा: भाई के अंतिम संस्कार से लौट रहा व्यक्ति खाई में गिरा,दो मौतों से पसरा परिवार में मातम

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में धू-धू कर जल गई चलती कार, लोगों और पुलिस की मदद से बाल बाल बचा परिवार

यह भी पढ़ें: चमोली आपदा में लापता हुए हरपाल का मिला शव,गर्भवती पत्नी के लिए लेने वाले थे छुट्टी

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top