Nainital-Haldwani News

नैनीताल: कांडपाल सर निभा रहे हैं गुरु होने की असली जिम्मेदारी, कुमाऊंनी भाषा में कर रहे जनसेवा

नैनीताल: कांडपाल सर निभा रहे हैं गुरु होने की असली जिम्मेदारी, कुमाऊंनी भाषा में कर रहे जनसेवा

नैनीताल: कोरोना काल में लोगों की एकता देखने को मिली है। नेक इंसानों द्वारा मिसालें पेश की गई हैं। जिससे जितना बन रहा है, करने की कोशिश कर रहा है। इधर नैनीताल जिले के एक सरकारी स्कूल के प्रिंसिपल भी प्रशासन द्वारा उन्हें दिया गया काम बखूबी निभा रहे हैं। उन्होंने लोगों को हर तरह से जागरूक करने के लिए एसएमएस (सेनिटाइजर, मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग) और कुमाऊनी भाषा का इस्तेमाल किया है।

जिले के धारी विकासखंड में स्थित राजकीय इंटर कॉलेज गुनियालेख के प्रभारी प्रधानाचार्य गौरीशंकर कांडपाल को जिला प्रशासन द्वारा लोगों को जागरूक करने की जिम्मेदारी दी गई है। जिसके तहत वे कोरोना गाइडलाइन के अनुपालन कराने के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को टीकाकरण के लिए भी प्रेरित कर रहे हैं।

इस बात से हर कोई वाकिफ है कि राज्य के मैदानी इलाकों में संक्रमण दर घटी है। मगर पहाड़ी क्षेत्रों में महामारी पैर पसार रही है। ऐसे में लोगों को वैक्सीनेशन आदि के लिए जागरूक करना बेहद जरूरी है। इसी क्रम में गौरीशंकर कांडपाल द्वारा दिए जागरूकता भरे संदेशों को वीडियो के माध्यम से प्रचारित किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अब Half मास्क पहनने वालों का कटेगा फुल चालान

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: ट्रक ने स्कूटी को मारी टक्कर,बिरला स्कूल के शिक्षक की मौत,साथी ने भी तोड़ा दम

यह भी पढ़ें: वीडियो कांफ्रेंस खत्म, सीएम रावत ने जिलाधिकारियों दी अहम जिम्मेदारी, पढ़ें

ग्रामीणों के बहुत करीब पहुंचने के लिए अपनेपन का एहसास होना काफी आवश्यक है। इसीलिए प्रधानाचार्य कांडपाल ने कुछ अनोखापन भी इजाद किया है। बता दें कि इन वीडियो के माध्यम से कांडपाल ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को कुमाऊंनी भाषा में कोरोना की गाइडलाइन समझा रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 10वीं पास युवाओं की भी लगेगी पोस्ट ऑफिस में नौकरी, तुरंत करें आवेदन

गौरीशंकर कांडपाल का मानना है कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना को लेकर लोगों को अब भी जागरूक रहने की जरूरत है। सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार जैसे लक्षण होते ही आपको सतर्क रहना है। ऐसी स्थिति में खुद से दवाई लेना गलत है। इसके बजाय अपने नजदीकी जांच केंद्रों में जाकर निश्शुल्क जांच करानी चाहिए और वहां से कोरोना किट लेनी चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: ट्रक ने स्कूटी को मारी टक्कर,बिरला स्कूल के शिक्षक की मौत,साथी ने भी तोड़ा दम

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में एक बार फिर 8 हजार से ज्यादा मरीज ठीक हुए

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सरकार ने कोरोना की वजह से अनाथ हुए बच्चों के लिए की घोषणा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: महामारी ने हल्की कर दी ट्रेनों की गति,एक महीने में रेलवे के लाखों टिकट रद्द

यह भी पढ़ें: क्रिकेटर अनुज रावत ने की नैनीताल पुलिस की मदद,एक लाख रुपए की फेस शील्ड बांटी

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top