Uttarakhand News

संकट: दिल्ली से खचाखच भरी आ रही हैं उत्तराखंड रोडवेज की बसें, दो दिन में कुमाऊं लौटे 1500 से ज़्यादा यात्री


हल्द्वानी: वक्त गुज़र जाता है, ये सोचकर वक्त को काटना आसान हो जाता है। मगर जब बीता हुआ बुरा वक्त वापस आ जाए, तो डर पैदा होना लाजमी है। कोरोना पिछली बार से भी भयानक तरीके से लोगों को अपना शिकार बना रहा है। उधर, दिल्ली में लॉकडाउन लग जाने से वही पुराने मंजर सड़कों पर और बसों में दिखाई दे रहे हैं।

दिल्ली सरकार ने एक हफ्ते के लॉकडाउन की घोषणा की है। जिस वजह से प्रवासियों ने अपने अपने राज्य जाना शुरू कर दिया है। इसी कारण उत्तराखंड निवासी भी वहां से वापस लौट रहे हैं। जिसकी वजह से बसों में यात्रियों की संख्या में खासा इजाफा होने लगा है। जो कि एक खतरे को भी बुलावा दे रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा की बेटी का बैडमिंटन में धमाल, मनसा रावत ने डेन्मार्क में जीता गोल्ड मेडल

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: आवश्यक सेवाओं को छोड़कर दोपहर 2 बजे बंद होंगी सभी दुकानें,आदेश जारी

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने कहा लॉकडाउन आखिरी विकल्प है, देश को इससे बचाना है

बता दें कि उत्तराखंड रोडवेज की दिल्ली से आने वाली बसें बिल्कुल खचाखच भरकर आ रही हैं। जानकारी के अनुसार रोडवेज की बसों से दो दिन में दिल्ली से करीब 1530 यात्री कुमाऊं लौट चुके हैं। जो कि एक बहुत बड़ी संख्या है।

एआरएम सुरेंद्र बिष्ट ने इस बारें में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दिल्ली रूट पर बसें खाली जा रही हैं और उधर से वही बसें बिल्कुल फुल होकर आ रही हैं। काफी प्रयास के बाद भी यात्री 50 प्रतिशत से अधिक बैठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें 👉  धनतेरस पर हल्द्वानी शहर को बनाया जाएगा जीरो जोन, कुछ ऐसा होगा ट्रैफिक प्लान

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में नया आदेश, रोजाना रात 10 घंटे का रहेगा लॉकडाउन

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में खराब होते जा रहे हैं हालात, कोरोना वायरस के 3012 केस सामने आए

हल्द्वानी से भी मजदूर कर रहे हैं पलायन

हल्द्वानी के लिए भी माहौल चिंताजनक है। कोविड की दूसरी लहर में कोरोना के बढ़ते मामलों के बाद यहां से मजदूर पलायन कर गए हैं। मजदूरों के पलायन करने से पेयजल, सीवर समेत तमाम योजनाओं का काम लटक गया है।

यह भी पढ़ें 👉  यात्रियों की टेंशन खत्म, हल्द्वानी से नैनीताल के लिए रोडवेज बस सेवा शुरू

प्रवासी अब ऑनलाइन फॉर्म भरकर देंगे जानकारी

नैनीताल: दिल्ली समेत कई जगहों पर कर्फ्यू या लॉकडाउन लगने से प्रवासी वापस पहाड़ लौट रहे हैं। ऐसे में पिछली बार की तरह इस बार प्रशासन द्वारा गठित टीमों को घर-घर जाकर वापस लौट रहे प्रवासियों का ब्यौरा एकत्रित नहीं करना होगा। बल्कि प्रवासी खुद ही ऑनलाइन फॉर्म भरकर जानकारी उपलब्ध करा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में चरम पर पहुंचा कोरोना का डर, हो गई डबल म्यूटेंट वायरस की पुष्टि

यह भी पढ़ें: रामनगर मार्ग पर भीषण सड़क हादसा,शादी से कुछ दिन पहले बेटी व पिता की दर्दनाक मौत

Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top