Udham Singh Nagar News

एक बार फिर उत्तराखंड रोडवेज बस चालक ने ड्यूटी पर लगाया पैग, यात्रियों में मची चीख पुकार


सीधे बर्खास्त होंगे उत्तराखंड रोडवेज बसों के नशेड़ी चालक,बस रुकवा कर एल्कोमीटर से होगी जांच

काशीपुर: घाटे में चल रहे रोडवेज को विवादों में घसीटने का काम तो खुद रोडवेज कर्मचारी ही कर रहे हैं। एक बार फिर बस चालक ने ड्यूटी पर शराब पीकर नशे की हालत में बस को दौड़ाया। गलत तरह से गाड़ी चलाए जाने पर यात्रियों में हल्ला हो गया। बाद में पुलिस को शिकायत की गई। तब जाकर चालक को पकड़कर यात्रियों को दूसरी बस से भेजा गया।

Ad

हुआ ये कि बीती रात काशीपुर डिपो की रोडवेज बस (संख्या 04पीए1687) हरिद्वार से काशीपुर आ रही थी। तभी कुल पचास सवारियों के साथ चालक व परिचालक भागूवाला ढाबे पर रुके। करीब रात आठ बजे यात्रियों ने खाना खाया तो दूसरी तरफ चालक ने नशा कर लिया।

यह भी पढ़ें 👉  आप ने उत्तराखंड में जारी की प्रत्याशियों की पांचवी लिस्ट, कांग्रेस की बागी नेत्री को भी दिया टिकट

सवारियों की चालक की इस हरकत की भनक तब लगी जब गाड़ी चलने लगी। दरअसल नशे में धुत चालक बड़े ही अनियंत्रित ढंग से बस को चला रहा था। एक जगह तो बाल बाल बस दुर्घटना का शिकार होते होते रह गई। इतने में सवारियों ने हल्ला करना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें 👉  भाजपा ने काटा कुमाऊं के दो सीटिंग विधायकों का टिकट, नए चेहरों को मिली जिम्मेदारी

सवारियों ने जैसे तैसे जबरदस्ती कर चालक से बस रुकवाई। चालक से बात करने पर पता चला कि वह नशे में पूरी धुत था। इतने में एक व्यक्ति ने 100 नंबर पर पुलिस से शिकायत की। सूचना पर पुलिस की पेट्रोल कार मौके पर पहुंची और चालक को बस सहित थाने ले गई।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में भाजपा को झटका, विधायक ने किया निर्दलीय चुनाव लड़ने का ऐलान

पुलिस ने बस के परिचालक सचिन तोमर की मदद से बस में बैठी धामपुर और काशीपुर की सवारियों को बस संख्या यूके 04पी ए 1124 तथा यूके 04 पीए 4303 में बैठाकर गंतव्य को रवाना किया। परिचालक सचिन ने मामले की सूचना लिखित में काशीपुर रोडवेज के प्रभारी को दी है।

बता दें कि मंगलवार सुबह चालक रंजीत राणा बस को लेकर काशीपुर डिपो पहुंच गया। एआरएम आरसी पांडे के मुताबिक परिचालक से लिखित शिकायत मांगी गई है। बहरहाल पुलिस ने आरोपित चालक को छोड़ दिया है और वह बस लेकर काशीपुर डिपो पहुंच चुका है लेकिन लिखित शिकायत आने के बाद आरोपी चालक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

To Top