Uttarakhand News

एजेंसी प्रथा से नाराज़ उत्तराखंड रोडवेज कर्मी करेंगे 48 घंटे का कार्य बाहिष्कार

Ad
Ad
Ad
Ad

हल्द्वानी: उत्तराखंड परिवहन निगम की कार्यशैली पर कोई ना कोई सवाल उठते ही रहते हैं। उत्तराखंड रोडवेज के घाटे के बाद भी निगम के सिर से समस्याओं का भार नहीं हटा है। अब उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन ने एक और दो सितंबर को कार्य बाहिष्कार करने का ऐलान कर दिया है। बता दें कि कर्मचारी उत्तराखंड परिवहन निगम में शुरु हुई एजेंसी प्रथा से खासा नाराज़ हैं।

उत्तरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन का आरोप है कि निगम द्वारा हाईकोर्ट की अवमानना करते हुए निर्णय लिए जा रहे हैं। दरअसल परिवहन निगम ने चालकों व परिचालकों की भर्ती हेतु एक एजेंसी (MKSSSS) के साथ अनुबंध किया है। जो अब भर्ती की पूरी जिम्मेदारी निभाएगी। मगर यूनियन का कहना है कि एजेंसी प्रथा विधि के विपरीत एवं निगम को आर्थिक हानि पहुंचाने वाली है।

ऐसे में यूनियन की मांग है कि इसे जल्द से जल्द समाप्त किया जाए। साथ ही उक्त एजेंसी द्वारा 233 चालकों व 356 परिचालकों की भर्ती पर तत्काल रूप से रोक लगाई जाए। यूनियन ने आंदोलन और कार्य बाहिष्कार का भी ऐलान किया है। उनका कहना है कि यूनियन के सभी सदस्य 31 अगस्त को काली पट्टी बांधकर कार्य करेंगे। इसके बाद एक से दो सितंबर तक पूरे 48 घंटे का कार्य बाहिष्कार करेंगे।

Join-WhatsApp-Group
Ad
यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी के दीक्षांशु नेगी की फिफ्टी गई बेकार...उत्तराखंड को मिली तीसरी हार
To Top