Dehradun News

उत्तराखंड:कोरोना महामारी से भी खतरनाक है उससे पैदा हुई नकारात्मकता,पढ़िए विशेषज्ञों की सलाह



देहरादून: आपने कई बार लोगों को कहते हुए सुना होगा कि पॉजिटिव रहिए। यह कथन कोरोना पॉजिटिव होने के बाद बहुत ही ज़्यादा ज़रूरी हो जाता है। दरअसल विशेषज्ञों की मानें तो मरीज कोरोना से कम नकारात्मकता, तनाव और बीमारी के डर से ज़्यादा हार रहे हैं। यही वजह है कि डॉक्टर आमजन से नेगेटिविटी को भगाने की दरख्वास्त कर रहे हैं।

राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल के असिस्टेंट प्रोफेसर एवं फिजीशियन डॉ. कुमार जी. कॉल और वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. जनेंद्र कुमार से मिली जानकारी के अनुसार डर और तनाव से शरीर की इम्यूनिटी कम होती है जिससे ऑक्सीजन लेवल पर भी गलत प्रभाव पड़ता है। साथ ही मनोबल टूटता है तो दवाई भी शरीर पर उस कदर प्रभावशाली नहीं रहती। यही वजह है कि कई संक्रमित लोगों के अंगों पर भी फर्क पड़ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: पहले छात्रा से की अश्लील बातें फिर पिटाई के डर से बाथरूम में छिप गया शिक्षक

देखिए कोरोना महामारी को कई बुजुर्ग लोगों ने भी हराया है मगर इसका डर आपको नुकसान में डाल सकता है। क्योंकि डर के कारण हार्ट से लेकर किडनी, कई अंगों पर असर पड़ता है। विशेषज्ञ बताते हैं कि किसी भी बीमारी की रिकवरी के लिए मरीज की इच्छा शक्ति बहुत महत्वपूर्ण योगदान निभाती है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: दफ्तर बंद करने के सभी आदेश कैंसल,कल से सरकारी ऑफिस खुलेंगे

यह भी पढ़ें: उतरांचल रोडवेज कर्मचारी यूनियन के अध्यक्ष ने कहा राम भरोसे है उत्तराखंड परिवहन निगम

प्रदेश के मुख्यमंत्री के चिकित्सक एवं राजकीय जिला कोरोनेशन अस्पताल के वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. एनएस बिष्ट ने कहा कि बुखार और थकावट जैसे लक्षण दिखने पर तुरंत विशेषज्ञ को दिखाएं। उन्होंने कहा कि विशेषज्ञों की सलाह से ही दवाई व इंजेक्शन लें ना कि खुद डॉक्टर बनकर अपना इलाज करना शुरू कर दें।

यह भी पढ़ें 👉  शहीद जनरल बिपिन रावत ने बदली भारतीय सेना की तस्वीर,कुछ इस तरह हुई थी सेना में एंट्री

राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में डॉक्टरों के अलावा मनोवैज्ञानिक और जनसंपर्क अधिकारियों की टीम अस्पताल के दूसरे कामों के साथ-साथ परिजनों और मरीजों की लगातार काउंसिलिंग कर रहे हैं। साथ ही चिकित्सक लोगों से घबराने और भ्रमित न होने की सलाह दे रहे हैं। लिहाजा देखा भी जाए तो कोरोना महामारी को तो हम हरा भी सकते हैं, मगर यदि तनाव और डर की स्थिति पैदा होती है तो इससे लड़ना मुश्किल हो जाता है।

यह भी पढ़ें 👉  बांग्लादेश में छाया हल्द्वानी MBPG कॉलेज का प्रशांत, टीम इंडिया को जिताया गोल्ड मेडल

यह भी पढ़ें: सैलानी ध्यान दे, कोरोना के चलते मसूरी समेत 4 जगहों पर लगा Curfew

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: एक दिन में 50 प्रतिशत से ज्यादा मरीजों ने कोरोना वायरस को हराया

यह भी पढ़ें: DM गर्ब्याल ने जनता और अस्पतालों की दूरी को किया कम, ज़रूरत पड़ने पर इन्हें करें कॉल

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:पुलिस कांस्टेबल पर दुष्कर्म और जान से मारने की धमकी देने का आरोप

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top