मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने रात्रि कर्फ्यू में दी राहत, अब देर तक खुलेंगी दुकानें

0
1330

देहरादून: कोरोना वायरस के मामलों के बढ़ने के बाद देहरादून में रात्रि Curfew लगा दिया गया है। कैबिनेट बैठक में यह फैसला लिया गया था और डीएम ने आदेश भी जारी कर दिए हैं। इसी क्रम में सरकार ने रात्रि Curfew में राहत दी है। जो कर्फ्यू रात 10 बजे शुरू हो रहा था वो अब रात 10.30 शुरू होगा। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने नवरात्र, विवाह समारोह और रमजान को देखते हुए आमजन की सुविधा को देखते हुए ये फैसला लिया है। उन्होंने रात्रि कर्फ्यू को रात 10 बजे की बजाय साढ़े दस बजे से लागू करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जनता से भी सहयोग की अपील की है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के नियमों का पालन जरूर करें। सीएम ने जिलाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों से भी कहा कि कोरोना वायरस से बचाव हेतु जो भी नियम बनाए गए हैं, उनका पालन करवाया जाए। नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई हो।

यह भी पढ़ें: नैनीताल: पत्नी से विवाद होने पर पति ने भाई को मारी गोली, हैरान कर देगा पूरा मामला

यह भी पढ़ें: IPL: पहले नंबर पर आने के बाद भी बागेश्वर के हिमांशु को नहीं मिले एक करोड़ रुपए!

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:शराब पीने वाले कोरोना संक्रमित मरीजों के इलाज में आ रहा है ज्यादा खर्चा

यह भी पढ़ें: नैनीताल DM गर्ब्याल ने बनाया प्लान, दूर दराज से आने वालों की परेशानी होगी दूर

यह भी पढ़ें: राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी हुए कोरोना संक्रमित, सोशल मीडिया द्वारा दी जानकारी

बता दें कि नाइट कर्फ्यू में देहरादून नगर निगम के क्षेत्र शामिल किया गया है। इसके अलावा प्रशासन ने गढ़ी कैंट बोर्ड और क्लेमेनटाउन का क्षेत्र भी प्रतिबंध के दायरे में रखने का फैसला किया है। Curfew के दौरान व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहेंगे, हालांकि उनके वाहनों के आवागमन की छूट रहेगी ताकि माल की लोडिंग-अनलोडिंग करने में परेशानी ना हो। इसमें फल-सब्जी, दूध, पेट्रोल-डीजल, गैस आपूर्ति, चिकित्सा सेवा से संबंधित वाहन शामिल रहेंगे। दूसरे राज्यों से हवाई जहाज, ट्रेन या बस से आ रहे लोगों को भी कर्फ्यू से छूट रहेगी। दूसरे राज्य से आवागमन करने पर निजी वाहनों के संचालन की भी छूट होगी। उन्हें चैकिंग के वक्त टिकट व टोल पर्ची अपने पास रखनी होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here