नैनीताल: पत्नी से विवाद होने पर पति ने भाई को मारी गोली, हैरान कर देगा पूरा मामला

रामनगर: कभी कभी विवाद इतनी गहरे निशान छोड़ जाते हैं कि वे अपराध का रूप ले लेते हैं। जिले से आ रही भाई की हत्या की खबर से समसनी तो फैली ही है मगर कुछ ज़िंदगियां भी हैं जो तबाह हो गई हैं। पुलिस ने हत्यारोपित को कुंडेश्वरी से गिरफ्तार कर लिया है।

मामला बेहद हिला देने वाला है। विवाद और विवाद से उपजा क्रोध रिश्तों को भी नहीं देखता। यही रामनगर के मालधन क्षेत्र में भी हुआ। मामा के बेटे ने अपने फुफेरे भाई को आधी रात गोली मार दी। आरोपित के अनुसार मृत वयक्ति ने उसकी शादी गलत लड़की से कराई है।

प्रेमपाल जिला ऊधमसिंहनगर के काशीपुर कुंडेश्वरी का रहने वाला है। प्रेमपल की शादी उसके बुआ के बेटे द्वारा रामनगर मालधन में कराई गई। अब शादी के बाद से ही प्रेमपाल और उसकी बीवी में लड़ाइयां शुरू हो गईं।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में नहीं रुक रही कोरोना वायरस की रफ्तार, जानें अपने जिले का हाल

यह भी पढ़ें: शादी में केवल 200 लोगों को मिलेगी एंट्री,उत्तराखंड सरकार ने जारी की गाइडलाइन

यही कारण था कि प्रेमपाल हमेशा कहता था कि भगत यानी उसके बुआ के बेटे ने उसकी शादी सही जगह नहीं करा कर उसकी ज़िंदगी बर्बाद कर दी है। इस दौरान कुछ समय से प्रेमपाल की पत्नी नाराज़ होकर मायके रह रही थी।

सोमवार को प्रेमपाल बुआ के घर मालधन पहुंचा और वहां से वह ससुराल चला गया। दोनों ससुराल पहुंचे तो वहां अनबन शुरू हो गई। अब हुआ यह कि भगत ने वहां लड़की वालों का पक्ष ले लिया और सारा दोष प्रेमपाल के मत्थे लगा दिया। प्रेमपाल इस बात से आग बबूला हो गया। अब इसके बाद ये लोग वहां से आ गए।

यह भी पढ़ें: रुद्रपुर सिडकुल की फैक्ट्री में लगी भयंकर आग, करोड़ों के नुकसान का अनुमान

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: बैठक से पहले मिले दो संक्रमित, दो दिन के लिए बंद हुआ नगर निगम

ससुराल से आने के बाद प्रेमपाल ने भगत से कहा कि मैं बाहर जा रहा हूं, खाना भी बाहर ही खाउंगा, तुम सो जाना। साथ ही यह भी कहा कि वो रात को ही आएगा। प्रेमपाल ने अपने दोस्तों के साथ जाकर खाना-पीना किया और रात करीब दो बजे घर पर लौट गया।

बाहर से प्रेमपाल द्वारा दरवाजा खटखटाने पर जैसे ही भगत ने दरवाजा खोला तो प्रेमपाल ने सटाक से गोली मार कर उसकी हत्या कर दी। हत्या करने के बाद मौके से फरार भी हो गया। गोली की आवाज़ हई तो परिजन बाहर आए। अस्पताल ले गए तो डॉक्टरों भगत को मृत घोषित कर दिया।

सूचना मिलने पर रामनगर से पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। बता दें कि मृतक भगत सिंह के पांच बच्चे हैं। जिसमें तीन बेटियों और बड़े पुत्र का विवाह हो गया है। छोटा बेटा हिमांशु दुबई में जेसीबी ड्राइवर है। परिवार में उनकी मौत से कोहराम मच गया है।

यह भी पढ़ें: नैनीताल में चौंकाने वाली चोरी, रात को पार्किंग में लगाई कार से कर दिए टायर साफ

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: बैठक से पहले मिले दो संक्रमित, दो दिन के लिए बंद हुआ नगर निगम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *