Nainital-Haldwani News

कॉर्बेट पार्क में सैलानियों को जंगल सफारी कराएंगी महिलाएं, बनेगा रिकॉर्ड

कॉर्बेट पार्क में सैलानियों को जंगल सफारी कराएंगी एजुकेटेड महिलाएं, बनेगा रिकॉर्ड

रामनगर: कॉर्बेट पार्क में महिलाएं भी सैलानियों को जंगल सफारी कराएंगी। किसी नेशनल पार्क में पहली बार ही यह होने जा रहा है। जी हां, प्रदेश सरकार ने 50 महिलाओं को चालक बनाकर रोजगार देने की दिशा में कदम बढ़ाया है। जिसके तहत कॉर्बेट पार्क प्रशासन ने पिछले महीने महिलाओं से आवेदन मांगे थे।

चालक बनने के लिए विभाग द्वारा आवेदन की शर्तों में कोई भी न्यूनतम शैक्षिक योग्यता नहीं रखी गई थी। बता दें कि 22 जून (आवेदन भेजने की अंतिम तिथि) तक 50 में से से कुल 42 ही आवेदन कार्बेट प्रशासन को मिल पाए थे।

सबसे चौंकाने वाली बात तो तब सामने आई जब विभागीय कर्मियों ने आवेदनों की जांच की। आवेदनों में अधिकांश युवतियां व महिलाएं पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री धारक थीं। इतना पढ़ लिख कर भी रोजगार नहीं मिलने के कारण महिलाएं जिप्सी चालक बनकर अपना खर्च उठाना चाह रही हैं।

यह भी पढ़ें: वक्त कम है और काम अधिक है,टीम वर्क पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को भरोसा, नया एक्शन

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल: दो पौधों के नाम लैला और मजनु, जल संरक्षण के लिए खास है जोड़ा

यह भी पढ़ें: नैनीताल में बाइक और स्कूटी की एंट्री बंद, 10 किलोमीटर पहले रोका जाएगा

बहरहाल आवेदनकर्ता महिलाओं व युवितियों को पहले देहरादून में पार्क प्रशासन सरकारी ड्राइविंग प्रशिक्षण दिलाया जाएगा। जब चालक का अनुभव प्रमाण पत्र मिल जाएगा तो कार्बेट प्रशासन द्वारा वीर चंद्र गढ़वाली योजना के तहत ऋण में जिप्सी दिलाने में मदद करेगा।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल निवासी शैलजा पांडे बनीं IAS ऑफिसर, UPSC में हासिल हुई 61वीं रैंक, आप भी बधाई दें

हाल की बात करें तो कार्बेट पार्क में करीब 270 जिप्सी (निजी) रजिस्टर्ड हैं। पंजीकृत जिप्सियां ही गेट के अंदर जा सकती हैं और जंगल सफारी करा सकती हैं। जानकारी के अनुसार अब महिलाओं की 50 जिप्सी विभाग में पंजीकृत हो जाएगी। महिलाओं के आने से प्रशासन को लग रहा है कि वे वन्‍यजीवों की सुरक्षा और संरक्षा के लिए भी पर्यटकों को जागरूक करेंगी।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल पहुंची नेहा कक्कड़, लोगों ने पहचाना तो लग गया जाम

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी घूमने पहुंचा सैलानी काठगोदाम पुल के नीचे गौला नदी में डूबा

यह भी पढ़ें: सीएम धामी ने समझी युवाओं की परेशानी,बेरोजगारों को आयु सीमा में एक साल की छूट

यह भी पढ़ें: भाजपा के विधायक आप के संपर्क में,2022 में कांग्रेस चुनावी दौड़ में शामिल नहीं:प्रदेश प्रभारी दिनेश मोहनिया

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में एक हफ्ते बढ़ा कोरोना Curfew, सभी जिलाधिकारियों को मिली विशेष पावर

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top