Nainital-Haldwani News

हल्द्वानी में DRDO द्वारा निर्मित कोविड अस्पताल का हुआ उद्घाटन,सुविधाओं पर डालें नजर

हल्द्वानी में DRDO द्वारा निर्मित कोविड अस्पताल का हुआ उद्घाटन,सुविधाओं पर डालें नजर

हल्द्वानी: कोरोना संक्रमण से निपटने के लिए DRDO द्वारा मेडिकल कॉलेज परिसर में निर्मित किया गया 500 बेडों का अस्पताल अब मरीजों के लिए तैयार है। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जनरल बीसी जोशी कोविड अस्पताल का वर्चुअल लोकार्पण कर इसे जनता जनार्दन के लिए सौंप दिया है। इस मौके पार सीएम से सुशीला तिवारी अस्पताल द्वारा जन सेवा में किए गए कार्यों की जमकर सराहना की।

बुधवार को वर्चुअल तरीकों से अस्थायी कोविड अस्पताल का उद्घाटन किया गया। सीएम तीरथ सिंह रावत ने इस मौके पर कहा कि 36 करोड़ की लागत से बना 500 बेड का यह अस्पताल बेहद कम समय में तैयार हुआ हैं। तीसरी लहर को देखते हुए इस अस्पताल की अहमियत काफी बढ़ जाती है। उन्होंने डीआरडीओ के अलावा प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के स्तर के कर्मचारियों एवं अधिकारियों की तारीफ की।

इस मौके पर डीएम धीराज सिंह गब्र्याल, भाजपा जिलाध्यक्ष प्रदीप बिष्ट, सीएमओ डा. भागीरथी जोशी, एसीएमओ डा. रश्मि पंत, डीआरडीओ वरिष्ठ वैज्ञानिक डा. संजीव कुमार जोशी समेत तमा लोग उपस्थित रहे। सीएम रावत ने राजकीय मेडिकल कॉलेज के डा. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय की जमकर तारीफ की। उन्होंने बताया कोरोना के खिलाफ लड़ाई में इस अस्पताल का काफी सहयोग रहा। सीएम ने कहा कि डाक्टरों की टीम अच्छा काम कर रही है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बाज़ार खोले जाने की अटकलें तेज,प्रदेश अध्यक्ष ने की CM रावत से अपील

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में 10वीं पास युवाओं की भी लगेगी पोस्ट ऑफिस में नौकरी, तुरंत करें आवेदन

यह भी पढ़ें: कोरोना:अनाथ हुए बच्चों के लिए आगे आए ललित मोहन जोशी,100 बच्चों को देगें निशुल्क उच्च शिक्षा

इस मौके पर कैबिनेट मंत्री बंशीधर भगत ने अस्पताल की सुविधाओं को मरीजों के लिए लाभकारी बताया। साथ ही सरकार के साथ साथ संसद अजय भट्ट, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री समेत मुख्यमंत्री की सराहना करते हुए उनका आभार जताया। नेता प्रतिपक्ष इन्दिरा हृदयेश ने कहा कि अस्पताल में संसाधन के अलावा डाक्टर व अन्य स्टाफ भी उपलब्ध कराया जाए। हमें उम्मीद है कि आम मरीजों को इस अस्पताल का बेहतर लाभ मिलेगा।

बता दें कि इस अस्पताल में 375 आक्सीजन बेड,125 आइसीयू बेड और 100 बेड पर वेंटीलेटर की सुविधा है। इसके अलावा तीसरी लहर के मद्देनजर चिकित्सालय में 200 आक्सीजनयुक्त बेड व 75 आइसीयू बेड बच्चों के लिए आरक्षित किया गया है। गौरतलब है सुशीला तिवारी अस्पताल में 600 आक्सीजनयुक्त बेड हैं। 100 बेड में आइसीयू है। तीन ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए हैं। ब्लैक फंगस के उपचार की भी पूरी व्यवस्था है। लेकिन इस नए अस्पताल के बनने से काफी राहत मिलेगी।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: भाजपा नेता के बाद कांग्रेस नेता के घर में धमाका

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के बॉर्डर पर चल रहा था फर्जी कोरोना जांच का खेल,छापे के बाद निजी लैब के 8 कर्मी हिरासत में

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सीएम ने पलटा ढाई महीने से हड़ताल कर रहे मनरेगा कर्मचारियों को हटाने का आदेश

यह भी पढ़ें 👉  फिल्म शूटिंग का गढ़ बना उत्तराखंड, अगली फिल्म के लिए पहाड़ आएंगी श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी कपूर

यह भी पढ़ें: केंद्र का प्लान,5 फीसदी से कम कोरोना केस वाले जिलों में मिलेगी राहत,उत्तराखंड के केवल 3 जिले शामिल!

यह भी पढ़ें: रद्द हो सकती हैं उत्तराखंड बोर्ड की 12वीं की परीक्षा! शिक्षा मंत्री ने दिया इशारा

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top