हल्द्वानी: स्कूल में हुई RTI कार्यकर्ता के साथ मारपीट, पुलिस ने दर्ज की क्रॉस FIR

हल्द्वानी: शहर के एक स्कूल से मारपीट का मामला सामने आया है। स्कूल के प्रिंसिपल ने निरीक्षण के सिलसिले में स्कूल पहुंचे आरटीआइ कार्यकर्ता को पीट दिया। बताया जा रहा है कि घटना सीसीटीवी में रिकॉर्ड भी हुई है। बहरहाल दोनों ही पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ थाने में शिकायत की है।

बनभूलपुरा थाना पहुंचकर लोहरिसाल मल्ला के रहने वाले आरटीआइ कार्यकर्ता पुष्पेश सांगा ने तहरीर सौंपकर अपनी आपबीती पुलिस को सुनाई है। शिकायतकर्ता के अनुसार उन्होंने राजकीय इंटर कालेज बनभूलपुरा के लोक सूचना अधिकारी/प्रधानाचार्य से परमिशन ली थी।

यह भी पढें: कोरोना का टेंशन:होली से पहले उत्तराखंड में नई गाइडलाइन जारी डीएम को मिली विशेष पावर

यह भी पढें: उत्तराखंड में बढ़ता कोरोना, संडे के बाद मंडे को भी संक्रमितों के आंकड़ों ने पूरा किया शतक

परमिशन इसलिए कि वह सूचना अधिकार अधिनियम के तहत समग्र शिक्षा अभियान के तहत स्टाक पंजिका में अंकित सामग्री का निरीक्षण करना चाहते थे। अब सोमवार को जब आरटीआइ कार्यकर्ता कॉलेज पहुंचे तो उन्हें पहले तो लोक सूचना अधिकारी ने कार्यालय में ही बैठा लिया।

समय निकलता गया मगर कोई भी व्यक्ति सामग्री की आख्या बताने के लिए वहां नहीं आया। अब हुआ यह कि शिकायतकर्ता ने मोबाइल का कैमरा ऑन किया और निरीक्षण आख्या बनवाने के लिए प्रधानाचार्य के कक्ष में प्रवेश किया।

वीडियो रिकॉर्डिंग कर रहे पुष्पेश सांगा का आरोप है कि पहले तो प्रधानाचार्य ने उनके साथ मारपीट की, फिर गाली गलौज भी किया और फिर मोबाइल भी छीन लिया। आरटीआइ कार्यकर्ता ने तो इतना तक बताया है कि घटना कॉलेज के सीसीटीवी कैमरे में भी कैद हुई है।

यह भी पढें: रानीखेत की रश्मि रौतेला को दीजिए बधाई…पिता की तरह बेटी पहनेगी भारतीय सेना की वर्दी

यह भी पढें: नैनीताल आने वाले सैलानी ध्यान दें,कोरोना वायरस को देखते हुए जिला प्रशासन ने उठाया बड़ा कदम

अब मामला थाने तो पहुंचा मगर एकतरफा नहीं दोतरफा होकर। मतलब राजकीय इंटर कालेज के प्रधानाचार्य रवि शंकर पांडे ने भी आरटीआइ कार्यकर्ता पुष्पेश सांगा के खिलाफ थाने में शिकायत की है।

आरटीआइ कार्यकर्ता पर आरोप हैं कि उन्होंने विद्यालय में आकर सरकारी कामों मे बाधा पैदा की। साथ ही दस्तावेजों से छेड़छाड़ भी की। बनभूलपुरा पुलिस दोनों शिकायती पत्रों की जांच कर रही है।  जांच के बाद ही किसी तरह की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढें: एक दिन में कुछ श्रद्धालु ही कर पाएंगे मां पूर्णागिरी के दर्शन, जारी हो गई SOP

यह भी पढें: नैनीताल में डीएम का कोरोना अलर्ट,बिना मास्क वालों पर एक्शन हेतु पुलिस को दी खुली छूट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *