हल्द्वानी निवासी ध्यान दें, ऑक्सीजन से लेकर प्लाज्मा व बेड तक की सारी जानकारी के लिए पढें ये खबर

हल्द्वानी: कोरोना महामारी ने जन-जन को सताया हुआ है। लोगों में डर का भयंकर माहौल है। इस दफा लोग पिछली बार से भी ज्यादा परेशान हैं। सबसे बड़ी वजह है ऑक्सीजन सिलेंडर, प्लाज्मा और बेडों की उपलब्धता की दिक्कत। हल्द्वानी वालों के लिए इस खबर में इन साधनों से जुड़ी सारी जानकारी उपलब्ध हैं।

जानकारी के अनुसार नैनीताल जिले के अस्पतालों में कुल 645 ऑक्सीजन बेड व 139 आईसीयू बेड उपलब्ध हैं। इनमें फिलवक्त सुशीला तिवारी अस्पताल में तीन ऑक्सीजन बेड, कल्याण अस्पताल हल्द्वानी में पांच आईसीयू बेड और मां जगदंबा हॉस्पिटल में 12 सामान्य बेड खाली हैं।

यह भी पढें: महाकुंभ का अंतिम स्नान संपन्न होते ही हरिद्वार में Curfew लागू

यह भी पढें: सतर्क रहे, उत्तराखंड के 208 इलाकों में लगा लॉकडाउन, मेडिकल बुलेटिन देखें

बता दें कि इन अस्पतालों के अलावा बांबे हॉस्पिटल हल्द्वानी, बृजलाल हॉस्पिटल हल्द्वानी, सेंट्रल हॉस्पिटल हल्द्वानी, नीलकंठ हॉस्पिटल हल्द्वानी, साईं हॉस्पिटल हल्द्वानी, विवेकानंद हॉस्पिटल हल्द्वानी, ऊषा बहुगुणा अल्फा हेल्थ हल्द्वानी में भी कोरोना मरीजों के इलाज की व्यवस्था है।

ब्लड संबंधी कोई भी काम है तो आप बेस अस्पताल हल्द्वानी (05946 – 255110), डा. सुशीला तिवारी अस्पताल (05946 – 234104) या बालकिशन देवकी जोशी चैरिटेबल ब्लड बैंक (8393006555) से संपर्क कर सकते हैं। इसके साथ ही डा. सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी और तिवारी मैटरनिटी होम हल्द्वानी में प्लाज्मा की सुविधा उपलब्ध है।

यह भी पढें: बाबा नीम करौली के पुत्र का निधन, भक्त बनकर हर साल पहुंचते थे कैंची धाम

यह भी पढें: नैनीताल डीएम गर्ब्याल ने कर्फ्यू पास के संबंध में जारी किए आदेश, ऐसे मिलेगी परमिशन

इसके अलावा ऑक्सीजन सिलेंडर अग्रवाल एजेंसी हल्द्वानी, चिराग एजेंसी कोटाबाग और राठी एजेंसी रुद्रपुर से प्राप्त किए जा सकेंगे। बहरहाल सिलेंडर लेने जाने से पहले आपको याद रहे कि आपको अपने साथ मरीज की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट, आधार कार्ड और डॉक्टर के द्वारा दिया पर्चा रखना होगा।

अग्रवाल एजेंसी हल्द्वानी – 9837377666

चिराग एजेंसी कोटाबाग – 9837649256

राठी एजेंसी रुद्रपुर – 9837848442

यह भी पढें: शादी के लिए अल्मोड़ा पहुंचने वाला था धौनी परिवार, कोरोना ने किया बंटाधार, Online लिए फेरे

यह भी पढें: उत्तराखंड पुलिस के प्रयासों को नमन,रिकवर मरीजों की मदद से होगा संक्रमितों का इलाज,वेबसाइट लॉंच

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *