Uttarakhand News

फटी जींस वाले बयान पर फिर मचा बवाल, विरोध हुआ तो तीरथ सिंह रावत ने दिया चैलेंज

Ad
Ad
Ad
Ad

देहरादून: बीते साल अपने कार्यकाल के दौरान तीरथ सिंह रावत ने बतौर मुख्यमंत्री फटी जींस पर जो बयान दिया था वह अब तक सियासत को गरमा रहा है। एक बार फिर इस बयान ने खलबली मचानी शुरू कर दी है। पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने अपने बयान का बचाव किया तो उनका विरोध शुरू हो गया। जिसके बाद तीरथ सिंह रावत ने अपने विरोधियों को चुनौती तक दे डाली है।

बता दें कि हाल ही में तीरथ सिंह रावत ने फिर से यह कहा था कि फटी जींस हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं है। यह हमारी संस्कृति में अशुभ माना जाता है। फटे कपड़े पहनना बाहर की संस्कृति है। तीरथ सिंह रावत यह भी दावा करते हैं कि उनके बयान के बाद सैकड़ों युवाओं ने फटी जींस और फटे कपड़े पहनना छोड़ दिया है।

मगर पूर्व मुख्यमंत्री के इस बयान का विरोध एक बार फिर से चहुंओर शुरू हो गया है। कांग्रेस ने तो इसे संकीर्ण और संकुचित मानसिकता भी बता दिया है। गढ़वाल मंडल की कांग्रेस मीडिया प्रभारी गरिमा दसौनी का कहना है यह बयान तीरथ सिंह रावत की नासमझी को दर्शाता है। वहीं यूकेडी ने भी गढ़वाल सांसद तीरथ सिंह रावत पर हमला बोला है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड कैबिनेट बैठक खत्म, अनुपूरक बजट और उम्र कैद को लेकर बड़ा फैसला

एक तरफ जहां विपक्षी दल पूर्व मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से इस बयान को लेकर माफी मांगने की बात कह रहे हैं तो वहीं तीरथ सिंह रावत अब भी इस बयान पर अड़े हुए हैं। आलोचना के बाद उन्होंने अपने विरोधियों को चुनौती दी है कि यदि वह फटी जींस के इतने बड़े समर्थक हैं तो हर राजनीतिक और अन्य समारोह में फटी जींस पहन कर ही आएं।

Join-WhatsApp-Group
Ad
To Top