Uttarakhand News

हल्द्वानी से दिल्ली के लिए चलेंगी रोडवेज बसें, मिल गई यूपी से अनुमति


आर्थिक तंगी का रोना रो रहा परिवहन विभाग एक लाख वाहनों से टैक्स वसूलना भूल गया, नजरअदाज किए 300 करोड़

देहरादून: इस वक्त की सबसे बड़ी खबर सामने आ रही है। उत्तर प्रदेश ने उत्तराखंड रोडवेज बसों को अपनी सीमाओं में चलने की अनुमति दे दी है। जी हां, अब उत्तराखंड से दिल्ली व अन्य प्रदेशों को जाने वाली रोडवेज बसों को दूसरे रास्तों से हो कर नहीं जाना पड़ेगा।

दरअसल उत्तर प्रदेश ने कोरोना के खतरे के कारण अंतरराज्जीय बसो के संचालन पर रोक लगा दी थी। जिस कारण उत्तराखंड रोडवेज बसों को दिल्ली व अन्य राज्यों को जाने में खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। इस बारे में तत्कालीन सीएम तीरथ सिंह रावत ने यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ से बात भी की थी मगर तब आदेश जारी नहीं हो सके।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा से हल्द्वानी यात्रा के लिए इन मार्गों को खोला गया, हेल्पलाइन नंबर भी जारी

लिहाजा उत्तराखंड परिवहन निगम को यूपी से अनुमति मिलने की उम्मीदें थी। जो कि अब मिल गई है। बहरहाल कुछ दिनों पहले ही देहरादून से दिल्ली के लिए रोडवेज बसों का संचालन शुरू हुआ लेकिन उन्हें वाया करनाल होकर भेजा जा रहा है। जिससे ज़्यादा यात्रा करनी पड़ी रही थी। मगर अब अनुमति के बाद रोडवेज और यात्रियों दोनों को फायदा होगा।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड क्रिकेट टीम के दो गेंदबाजों का भारतीय चैलेंजर ट्रॉफी में चयन

हल्द्वानी रोडवेज स्टेशन प्रभारी डीएन जोशी ने जानकारी दी और बताया कि अभी कुछ देर पहले ही आदेश प्राप्त हुए हैं। हालांकि अभी सभी चालक इधर उधर गए हुए हैं। लेकिन यात्रियों की सहूलियत के लिए जल्द से जल्द तैयारियां की जाएंगी। कोशिश की जा रही है कि आज ही कम से कम दो तीन बसें रवाना की जाएं।

यह भी पढ़ें 👉  RTI में खुलासा, विधायक निधि खर्च करने में नंबर वन हैं संजीव आर्य
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top