HomeUttarakhand NewsPithoragarh Newsजय हिंद,देवभूमि के कोरोना योद्धाओं ने बॉर्डर पर जवानों को लगाई वैक्सीन,आसान...

जय हिंद,देवभूमि के कोरोना योद्धाओं ने बॉर्डर पर जवानों को लगाई वैक्सीन,आसान नहीं रहा सफर

पिथौरागढ़: कोरोना ने लोगों को भले ही तड़पाया है। मगर एकजुट करने में भी हाथ बंटाया है। पिछले साल लगे लॉकडाउन में जिस तरह से आस पड़ोसी या दोस्त एक दूसरे के काम आ रहे थे। वक्त ज़्यादा होने पर लोग एक-दूसरे से खूब बातें कर रहे थे। इसलिए रिश्ते सुधारने में भी कोरोना का हाथ रहा है।

एक रिश्ता देवभूमि के स्वास्थ्य कर्मियों ने भी निभाया है। कड़ी मेहनत मशक्कत के बाद 15000 फीट की ऊंचाई पर स्थित बॉर्डर पर पहुंचकर कोरोना योद्धाओं द्वारा देश के वीर जवानों को कोरोना वैक्सीन लगाई गई है। मुख्य चिकित्साअधिकारी के अनुसार टीम को यह सफर करने में मुश्किलें हुई लेकिन जवानों को टीकाकरण केंद्रों में बुलाना व्यावहारिक नहीं था।

स्वास्थ्यकर्मियों ने पिछले साल से लेकर अब तक जिस तरह से अपनी जान को हथेली पर रखकर काम किया, उसका कोई भी मोल नहीं चुकाया जा सकता है। इसी कड़ी में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने 15 हजार फीट ऊंचाई तक पहुंचकर चीन सीमा पर तैनात जवानों को कोरोना का टीका लगाया।

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी: कमल कन्याल और अंजू तोमर को CAU देगा 51 हजार रुपए का पुरस्कार

यह भी पढ़ें: शनिवार को बंद रहेगा हल्द्वानी बाजार, नगर निगम पूरे बाजार को सैनेटाइज कराएगा

तीन दिवसीय इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग की टीम ने करीब 15 हज़ार फीट की ऊंचाई पर स्थित नाबिढांग व 10 हज़ार फीट ऊंचाई पर स्थित गुंजी पहुंचकर जवानों को कोरोना की दूसरी खुराक लगाई। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. हरीश चंद्र पंत द्वारा पांच सदस्यीय मेडिकल टीम को चीन सीमा पर तैनात आइटीबीपी व एसएसबी की अग्रिम चौकियों में भेजा गया।

डॉ. हरीश चंद्र पंत ने बताया कि टीम को ऊपर पहुंचने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी। बता दें कि लमारी से छियालेख तक टीम को 15 किमी पैदल सफर तय करना पड़ा। पहले दिन टीम गर्ब्यांग पहुंची। फिर दूसरे दिन गुंजी और अगले दिन नाबिढांग पहुंची।

इस दौरान करीब 166 जवानों को कोरोना का टीका लगाया गया। टीम में शामिल प्रतिरक्षण सहायक मोहित पंत ने बताया कि बॉर्डर पर चौकियों में टीकाकरण कार्यों में कोई बाधा नहीं आई। बताया कि पहले भी टीम ने चौकियों में पहुंचकर जवानों को वैक्सीन की पहली खुराक लगाई थी। टीम में वैक्सीन कोल्डचैन मैनेजर पंकज बिष्ट, स्टाफ नर्स ईश्वर दत्त जोशी, फील्ड सुपरवाइजर चंदन सिंह, डा. दर्शन बेरी भी शामिल थे। 

यह भी पढ़ें: वाह हल्द्वानी वालों, चोरी की शिकायत करवा कर भूल गए, पुलिस ने ढूंढ लिए हैं आपके मोबाइल

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में बढ़ती चोरी,अब आम्रपाली इंस्टीट्यूट के सहायक प्रोफेसर का घर उच्चकों ने किया साफ

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में 2220 कोरोना वायरस के मामले सामने आए, मौत का आंकड़ा भी 1800 पार

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: GGIC की तीन टीचर निकली पॉजिटिव, छात्राओं की तबीयत भी खराब

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here