Uttarakhand News

मिलिए उत्तराखंड के सबसे युवा मुख्यमंत्री से…. पुष्कर सिंह धामी के राजनैतिक सफर पर डालें नजर


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी ने फेसबुक पर बनाया अनोखा रिकॉर्ड

देहरादून: प्रदेश से इस वक्त की सबसे बड़ी खबर आ रही है। राज्य को आजतक का सबसे युवा मुख्यमंत्री खटीमा के विधायक पुष्कर सिंह धामी के रूप में मिल गया है। बता दें कि युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके पुष्कर सिंह धामी खटीमा से दो बार के विधायक हैं।

जिला पिथौरागढ ग्राम सभा टुण्डी, तहसील डीडी हाट में जन्मे पुष्कर सिंह धामी के पिता सेना से जुडे़ रहे। उनकी प्रारंभिक शिक्षा आर्थिक कारणों से काफी संघर्षशील तरह से पूरी हुई। साथ ही तीन बहनों के बाद अकेला पुत्र होने के नाते परिवार के प्रति जिम्मेदारियां हमेशा चट्टान बन कर सामने खड़ी रहीं।

अनेकों कारणों के चलते बचपन से ही पुष्कर सिंह धामी के मन में देशभक्ति के बीज पैदा होते गए। स्काउट गाइड, एन0सी0सी0, एन0एस0एस0 इत्यादी शाखाओं में प्रतिभाग एवं समाजिक कार्यो को करने के लिए उन्होंने भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ने का मन बनाया।

यह भी पढ़ें 👉  एक बार में दो जगहों से सरकारी राशन लेने वाले नपेंगे,नैनीताल जिले की जांच में खुली पोल

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:11वें सीएम की रेस में ये 4 नाम सबसे आगे,बाकि तो भाजपा चौंकाने के लिए विख्यात है

यह भी पढ़ें: सीएम पद से इस्तीफे के बाद तीरथ सिंह रावत ने सल्ट उपचुनाव का किया जिक्र

पुष्कर सिंह धामी ने लखनऊ विश्वविद्यालय में छात्रों के लिए काफी अहम कार्य किए। बता दें कि पुष्कर सिंह धामी ने सन 1990 से 1999 तक जिले से लेकर राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर तक अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद में विभिन्न पदों में रहकर विद्यार्थी परिषद में कार्य किया है।

इसकेबाद उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के साथ जुड़ कर अपनी नेक सोच को आगे बढ़ाने का काम किया। उन्होंने उत्तराखंड राज्य गठन के उपरांत पूर्व मुख्यमंत्री के साथ एक अनुभवी सलाहकार के रूप में 2002 तक कार्य किया। दो बार भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष रहते हुए सन 2002 से 2008 तक पुष्कर सिंह धामी ने अनेकों अहम रैलियां व आयोजन किए।

यह भी पढ़ें 👉  बच्चों से मिलकर सीएम धामी ने याद किया अपना बचपन, कहा फुटबॉल खेलते वक्त टूटा था मेरा हाथ

बहरहाल दिनांक 11.01.2005 को प्रदेश के 90 युवाओं को जोड़कर विधान सभा का घेराव हेतु एक ऐतिहासिक रैली आयोजित की गई। जिसे युवा शक्ति प्रदर्शन के रूप में उदाहरण स्वरूप आज भी याद किया जाता है। पुष्कर सिंह धामी ने भाजपा सरकार में वर्ष 2010 से 2012 तक शहरी विकास अनुश्रवण परिषद के उपाध्यक्ष के रूप में कार्यशील रहते हुए क्षेत्र की जनता की समस्याओं का समाधान किया।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के 10वें मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने राज्यपाल को सौंपा इस्तीफा

यह भी पढ़ें: फिलहाल मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत NOTOUT, प्रेस वर्ता में इस्तीफा नहीं,गिनाई उपलब्धियां

इसी मेहनत का फल पुष्कर सिंह धामी को जनता द्वारा 2012 के विधान सभा विधान सभा चुनाव में विजयी कर दिया गया। पुष्कर सिंह धामी दो बार से 70 विधानसभा क्षेत्र खटीमा से विधायक हैं। उन्हें अपने राजनैतिक करियर में अब सबसे बड़ी सफलता मिली है। पुष्कर सिंह धामी को अब प्रदेश की कमान सौंपी गई है।

यह भी पढ़ें 👉  100 करोड़ रुपए से साफ होगा नैनीताल...देश में पहली बार ऑनलाइन सिस्टम से होगा काम

1. विधान सभा का नाम : 70, विधान सभा क्षेत्र, खटीमा

2. माता का नाम : श्रीमती विश्ना देवी

3. पत्नी का नाम : श्रीमती गीता धामी

4. शैक्षिक योग्यता : (क) शैक्षणिक योग्यता – स्नातकोत्तर
(ख) व्यावसायिक – मानव संसाधन प्रबंधन और औद्योगिक संबंध के मास्टर

5. जन्म तिथि : 16.09.1975

6. राजनितिक दल का नाम : भारतीय जनता पार्टी

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड का अगला सीएम कौन…केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पर्यवेक्षक बनाए गए

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत पहुंचे देहरादून, कर सकते हैं राज्यपाल से मुलाकात

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top