Nainital-Haldwani News

पर्यटकों की बढ़ी भीड़, क्या फिर से उत्तराखंड में लगेगा वीकेंड कर्फ्यू! HC ने मांगा प्लान


Uttarakhand government have to rethink about weekend curfew, says HC

नैनीताल: हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार को चेताते हुए कहा है कि पर्यटन स्थलों पर बढ़ती भीड़ के मद्देनजर दोबारा वीकेंड कर्फ्यू पर विचार किया जाए। लाजमी है कि कोरोना के नियमों में छूट मिलने के बाद से ही पर्यटकों का जमावड़ा टूरिस्ट प्लेस पर लगना शुरू हो गया। जहां नियमों की जमकर अवहेलना की जा रही है।

बुधवार को सीजे न्यायमूर्ति आरएस चौहान व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में तमाम जनहित याचिकाओं पर सुनवाई हुई। जिसमें कोर्ट ने कोरोना कर्फ्यू में ढील दिए जाने के साथ ही नैनीताल, मसूरी जैसे पर्यटन स्थलों पर उमड़ रही भारी भीड़ पर चिंता जताई है।

कोर्ट ने साफ कहा कि सरकार द्वारा जो भी कोरोना नियमों को लेकर व्यवस्थाएं की गई, वो सब धराशायी होताी दिख रही हैं। तमाम पर्यटन स्थलों पर पहुंच रहे लोग बिना मास्क, बिना सोशल डिस्टैंसिंग के आवाजाही कर रहे हैं। नैनीताल में भारी भीड़ होने से खतरा बढ़ रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  नैनीताल बीडी पांडे हॉस्पिटल में कुमाऊं कमिश्नर दीपक रावत का निरीक्षण,मरीजों को मिलेगी ये सुविधा

यह भी पढ़े: करीब दो महीने बाद हल्द्वानी से चली चंडीगढ़ और दिल्ली की बस

यह भी पढ़े: उत्तराखंड में डेल्टा प्लस वेरिएंट का पहला केस मिला, 23 साल का युवक संक्रमित

एक याचिका के अनुसार नैनीताल व तमाम पर्यटन जगहों पर अधिकतर वीकेंड पर ही लोगों की भीड़ देखने को मिल रही है। लाजमी है कि बीते वीकेंड पर तो नैनीताल में होटल व गेस्ट हाउस तक पूरे भर गए थे। इसके मद्देनजर हाईकोर्ट ने सरकार को सख्त निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी में कॉर्पोरेट क्रिकेट लीग टूर्नामेंट का रोमांच, विशाल कैटर्स की जीत में चमके रोहित बिष्ट

निर्देशों में कोर्ट ने सरकार से कहा है कि वह सप्ताहांत में पर्यटकों के लिए कोरोना कर्फ्यू में दी गई छूट पर पुनर्विचार करे और इस बारे में लिए गए फैसले से अवगत कराए। 28 जुलाई तक सरकार को रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है।

यह भी पढ़े: उत्तराखंड के पांच जिलों में बारिश के आसार, नैनीताल में बिजली गिरने की भी संभावना

यह भी पढ़े: फैसला:उत्तराखंड के स्कूलों में फिलहाल ऑफलाइन पढ़ाई नहीं होगी लेकिन शिक्षकों को जाना होगा

कोरोना वीकेंड कर्फ्यू पर पुनर्विचार के साथ ही कोर्ट ने सरकार से डेल्टा प्लस वैरिएंट के नमूनों की जांच रिपोर्ट का विवरण भी तलब किया। कोर्ट ने कहा जल्द ये बताएं कि सैंपल लेने वाली जगहों में क्या कदम उठाए गएन हैं। राज्य के कितने सरकारी व कितने निजी अस्पतालों में एमआरआई है और कितनों में नहीं है। 

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में फिर खुला सरकारी नौकरी का पिटारा, डिग्री कॉलेजों में 455 पदों पर भर्ती, आवेदन करें

साथ ही कोर्ट ने सरकार से कहा कि प्रतिदिन के टीकाकरण, पहली डोज लगा चुके लोगों की संख्या और प्रतिदिन की दर, बुजुर्ग व्यक्तियों और विकलांगों को लगाई गई वैक्सीन की संख्या तथा इनके लिए की गई व्यवस्था का विवरण उपलब्ध कराया जाए।

यह भी पढ़े: हल्द्वानी से दिल्ली के लिए चलेंगी रोडवेज बसें, मिल गई यूपी से अनुमति

यह भी पढ़े: हैप्पी बर्थडे माही, भारतीय क्रिकेट को ताकत देने के लिए धन्यवाद

Ad
Ad - Vendy Sr. Sec. School
Ad
Ad

हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम उत्तराखंड का तेजी से बढ़ता हुआ न्यूज पोर्टल है। पोर्टल पर देवभूमि से जुड़ी तमाम बड़ी गतिविधियां हम आपके साथ साझा करते हैं। हल्द्वानी लाइव की टीम राज्य के युवाओं से काफी प्रोत्साहित रहती है और उनकी कामयाबी लोगों के सामने लाने की कोशिश करती है। अपनी इसी सोच के चलते पोर्टल ने अपनी खास जगह देवभूमि के पाठकों के बीच बनाई है।

© 2021 Haldwani Live Media House

To Top