उत्तराखंड के लोगों को मोबाइल पर मिलेगी अस्पतालों में खाली बेड, दवा समेत सारी जानकारी

देहरादून: प्रदेश के लोगों को अस्पतालों के खाली बेड, दवाएं और ऑक्सीजन संबंधित सभी जानकारी से अपडेट रखने के लिए सरकार ने कदम उठाया है। अब इस तरह का सारा डाटा ऑनलाइन एक वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा। जिससे लोगों को हर जानकारी लेने में आसानी होगी। हाईकोर्ट के आदेश के बाद सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने कोविड का नया पोर्टल बना दिया।

बता दें कि इस कोविड पोर्टल ( https://covid19.uk.gov.in ) पर समय-समय से रिअल टाइम डाटा अपलोड किया जाएगा। जिसमें टेस्टिंग सेंटर्स का पूरा विवरण और किस कोविड अस्पताल में कितने बेड खाली हैं, आदि कई जानकारी शामिल रहेगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: आवश्यक सेवाओं को छोड़कर दोपहर 2 बजे बंद होंगी सभी दुकानें,आदेश जारी

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी ने कहा लॉकडाउन आखिरी विकल्प है, देश को इससे बचाना है

हुआ यूं कि मंगलवार को अधिवक्ता दुष्यंत मैनाली ने हाईकोर्ट में दाखिल अपनी विचाराधीन जनहित याचिका में प्रार्थना पत्र देकर 16 अप्रैल को लेकर मामला उठाया था। जिसमें एक ही दिन में 37 मरीजों की मौत होने, प्राइवेट अस्पतालों में बीपीएल मरीजों को पंजीकरण की शर्त के अनुसार 25 फीसद बेड आरक्षित करने का उल्लंघन करने, सरकारी अस्पतालों में वेंटीलेटर व आईसीयू की कमी के मुद्दे शामिल थे।

अब हाईकोर्ट ने इसी मामले में सरकार को महत्वपूर्ण आदेश जारी किए। हाईकोर्ट के आदेशों के अनुसार ही सरकार ने तुरंत सक्रियता दिखाई और शाम तक की स्वास्थ्य विभाग ने एक वेबसाइट तैयार कर दी। सरकार ने बताया कि इस वेबसाइट में अस्पतालों में खाली बेड की संख्या तथा कोविड मरीजों के लिए निर्धारित बेड और तमाम रिअल टाइम स्थिति दर्शायी जाएगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में नया आदेश, रोजाना रात 10 घंटे का रहेगा लॉकडाउन

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में खराब होते जा रहे हैं हालात, कोरोना वायरस के 3012 केस सामने आए

बता दें कि इस मामले में अगली सुनवाई दस मई को होनी है। सरकार को उससे पहले जवाब दाखिल करना था। अधिवक्ता दुष्यंत ने बताया कि उन्होंने कोविड अस्पताल में खाली बेड की रियल टाइम स्थिति प्रदर्शित करने की प्रार्थना पत्र में की थी। लिहाजा इस वेबसाइट के बनने से आमजनों को सहुलियत तो होगी ही और साथ ही हर पल की जानकारी भी वे घर बैठे ले सकेंगे।

इसके अलावा राज्य जिला अस्पतालों तथा कोविड मरीजों के लिए अधिकृत अस्पतालों में आईसीयू और प्रशिक्षित स्टाफ के साथ वेंटिलेटर सुविधा देने की तैयारी शुरू हो चुकी है। साथ ही प्राइवेट अस्पतालों में निर्धारित 25 फीसद बेड भी बीपीएल के लिए आरक्षित करने होंगे।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में चरम पर पहुंचा कोरोना का डर, हो गई डबल म्यूटेंट वायरस की पुष्टि

यह भी पढ़ें: रामनगर मार्ग पर भीषण सड़क हादसा,शादी से कुछ दिन पहले बेटी व पिता की दर्दनाक मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *